JharkhandLead NewsRanchi

कांटाटोली फ्लाईओवरः रैयतों के बीच बंटेगा 28 करोड़, जिला प्रशासन ने मांगे आवेदन

Ranchi: कांटाटोली फ्लाईओवर निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है. फ्लाईओवर के लिए लगभग 1.22 एकड़ जमीन का अधिग्रहण किया जा रहा है. जिला प्रशासन की ओर से मुआवजा वितरण की कार्रवाई भी जल्द शुरू की जायेगी. 20 अवार्ड बन चुके हैं. सभी रैयतों को जिला भू-अर्जन की ओर से नोटिस जारी कर दिया गया है. रैयतों के बीच मुआवजे के तौर पर 28 करोड़ रू वितरित किये जायेंगे. जिला प्रशासन ने सभी रैयतों से आवेदन मांगें है. अब तक एसपीजी मिशन का ही आवेदन मिल पाया है.

भूमि के लिये 26.5 करोड़ व संरचना के लिये 1.5 करोड़ तय

जानकारी के अनुसार जिला प्रशासन ने मुआवजे की राशि तय कर दी है. कुल 28 करोड़ वितरित किये जायेंगे. इनमें भूमि के लिये 26.5 करोड़ और संरचना में 1.5 करोड़ रू निर्धारित किये गये हैं. रैयतों से आवेदन मांगे गये हैं.

आवेदन के साथ जो दस्तावेज देने हैं

आवेदन के साथ रैयतों को दावा पत्र भी साथ देना होगा. इसके अलावा जमीन से संबंधित सारे दस्तावेज और रैयत को अपने पहचान से संबंधित डॉक्यूमेंट भी देने होंगे.

40 करोड़ से बढ़ कर 224 करोड़ रुपये हो गयी है लागत

कांटाटोली फ्लाइओवर निर्माण की लागत बढ़ कर 224 करोड़ रुपये हो गयी है. शुरुआत में 40 करोड़ की डीपीआर बनी थी. धीरे-धीरे 84 करोड़ पहुंचा. इसके बाद फ्लाइओवर निर्माण की लागत 187 करोड़ पहुंची और फिर मंगलवार (28 सितंबर, 2021) को झारखंड कैबिनेट में इसके निर्माण के लिए बजट राशि 224 करोड़ तक जा पहुंचा.

वर्ष 2016 में बनी थी योजना

कांटाटोली फ्लाइओवर निर्माण की योजना वर्ष 2016 में बनी थी. वर्ष 2017 में इसका काम आवंटित किया गया था, लेकिन भू-अर्जन नहीं होने के कारण काम चालू नहीं हो सका. मई 2018 में भू-अर्जन का काम पूरा हुआ. जून 2018 में क्लियरेंस के बाद काम शुरू किया गया था. जून 2020 तक कांटाटोली फ्लाइओवर बन कर तैयार हो जाना चाहिए था. कुछ अड़चनों के कारण काम धीमा हो गया था. लेकिन अब फ्लाईओवर का निर्माणकार्य तेजी से चल रहा है.

इसे भी पढ़ें: हाईकोर्ट ने राज्य सरकार से पूछा- राज्य में कितने टाउन प्लानर की है आवश्यकता

Related Articles

Back to top button