न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कांके : दीपक झा के घर से मिले फिंगरप्रिंट की जांच में जुटी पुलिस

342

Ranchi : कर्ज और बदनामी के डर ने कांके के अरसंडे में सोमवार को एक पूरे परिवार को लील लिया. दीपक झा और रूपेश झा ने मिलकर पहले अपने परिवार के पांच सदस्यों की हत्या की, उसके बाद दोनों भाइयों ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. मृतकों में दीपक झा, रूपेश झा, पिता सत्यानंद झा, मां गयात्री देवी, दीपक की पत्नी सोनी, आठ वर्षीय बेटी दृष्टि और एक साल का जंगू शामिल है. वहीं, इस घटना के बाद रांची एसएसपी अनीश गुप्ता ने बताया कि डॉक्टरों की टीम द्वारा सोमवार की रात सभी मृतकों का पोस्टमॉर्टम किया गया, जिसकी वीडियोग्राफी भी करवायी गयी है. सोमवार की शाम को भी घटनास्थल पर पुलिस की टीम गयी हुई थी और सभी पहलुओं की जांच की जा रही थी. फॉरेंसिक टीम ने वहां से जो फिंगरप्रिंट बरामद किया है, उसकी जांच की जा रही है. एसएसपी बताया कि जो बातें सुसाइड नोट में लिखी गयी हैं, उसके आधार पर जांच चल रही है. अभी यूडी केस दर्ज किया गया है. सर्च के विश्लेषण के आधार पर धाराओं में परिवर्तन संभव है.

इसे भी पढ़ें- दीपक ने भाई के साथ मिलकर की पिता, मां, पत्नी दोनों बच्चों की हत्या, फिर खुद को लगायी फांसी :…

दीपक ने गबन में फंसने के डर से की खुदकुशी : एसएसपी

पुलिस के मुताबिक, मृतकों के परिजनों से संपर्क किया गया है. इस परिवार की बेटी भी रांची में रहती है. वहीं, उनके पैतृक गांव के लोगों से भी संपर्क किया जा रहा है. यदि परिजन नहीं आते हैं, तो 72 घंटे के बाद आगे की कार्रवाई की जायेगी. एसएसपी अनीश गुप्ता ने कहा कि झा परिवार के सदस्य पारिवारिक समस्या और आर्थिक तंगी से गुजर रहा था. एसएसपी अनीश गुप्ता ने कहा कि रेजिडेंशियल फर्नीचर के संचालक हर्षवर्धन जैन ने अपने कर्मचारी किसलय मिश्रा के खिलाफ दो कस्टमरों से 2.62 लाख और 1.45 लाख रुपये की ठगी का आरोप लगाया था. दीपक झा रेजिडेंशियल फर्नीचर में सेल्स मैनेजर का काम कर रहे थे. वहां हुए गबन में दीपक झा का नाम भी आने की आशंका थी, जिसे देखते हुए दीपक ने खुदकुशी का कदम उठाया.

Related Posts

आंगनबाड़ी आंदोलन : हेमंत के समर्थन से कांग्रेस के बदले बोल, प्रदेश अध्यक्ष ने कहा “ बड़े भाई की भूमिका में रहेगा JMM”

पूर्वोदय 2019  में  झारखंड कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा “ लोकसभा चुनाव में बना गठबंधन अभी भी जारी“.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: