न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कन्हैया कुमार का भाकपा के टिकट पर बेगूसराय से लोकसभा चुनाव लड़ना लगभग तय

भारतीय कम्यूनिस्ट पार्टी ने जेएनयू छात्रसंघ के अध्यक्ष रह चुके कन्हैया कुमार का टिकट  बेगूसराय से लोकसभा चुनाव के लिए फाइनल कर दिया है. पार्टी की जिला इकाई ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी को कन्हैया कुमार का नाम रिकमेंड कर दिया है.

137

 NewDelhi /Patna :  भारतीय कम्यूनिस्ट पार्टी ने जेएनयू छात्रसंघ के अध्यक्ष रह चुके कन्हैया कुमार का टिकट  बेगूसराय से लोकसभा चुनाव के लिए फाइनल कर दिया है. खबरों के अनुसार पार्टी की जिला इकाई ने उम्मीदवारी के लिए राष्ट्रीय कार्यकारिणी को कन्हैया कुमार का नाम रिकमेंड कर दिया है.  बता दें कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी से मंजूरी मिलने के बाद इसकी घोषणा की जायेगी. जिला इकाई को उम्मीद है कि कार्यकारिणी मार्च के पहले सप्ताह में होने वाली बैठक में कन्हैया के नाम पर मुहर लगा देगी.  जान लें कि बिहार में भाकपा का राजद, कांग्रेस आदि दलों के साथ महागठबंधन है, लेकिन सीट बंटवारा अभी तय नहीं हुआ है.  सूत्रों के अनुसार बेगूसराय सीट यदि भाकपा के खाते में गयी तो ठीक, नहीं तो कन्हैया का महागठबंधन से लड़ना मुश्किल हो सकता है. इधर, भाकपा सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सीट शेयरिंग का मसला सुलझे या नहीं सुलझे, कन्हैया हर हाल में बेगूसराय से चुनाव लड़ेंगे.

भाकपा मोतिहारी, खगड़िया और मधुबनी पर भी दावा कर रही है

बेगूसराय के अलावा पार्टी तीन अन्य सीटों मोतिहारी, खगड़िया और मधुबनी पर दावा कर रही है.   भाकपा नेता डी राजा इन सीटों पर अपना दावा लालू प्रसाद से मिलकर जता चुके हैं. एनडीए में बिहार की बेगूसराय सीट भाजपा के खाते में थी, जहां से भोला सिंह सांसद रहे. पिछले साल उनके निधन के बाद यह सीट रिक्त है.  पिछले दिनों बिहार के सियासी गलियारे में चर्चा हो रही थी कि बेगूसराय से बिहार भाजपा के कद्दावर नेता और वर्तमान में सूक्ष्म एवं लघु उद्योग मंत्री गिरिराज सिंह को टिकट दिया जा सकता है. वह अभी नवादा से सांसद हैं;  चूंकि उनका मूल निवास लखीसराय जिला का बड़हिया रहा है और बेगूसराय से सटा है, तो ऐसे में वोट की दृष्टि से उनका जातीय और राजनीतिक समीकरण भी यहां फिट बैठ रहा है.  हालांकि बेगूसराय से उनकी उम्मीदवारी अब तक तय नहीं हुई है.

इधर, जेएनयू छात्रसंघ के अध्यक्ष रह चुके कन्हैया पर जेएनयू में देश विरोधी नारे लगाने का आरोप लग चुका है. हालांकि मामला न्यायालय में विचाराधीन है.  भाजपा के नेता-कार्यकर्ता उन पर देशद्रोह का आरोप लगाते रहे हैं.  ऐसे में बेगूसराय सीट से यदि गिरिराज सिंह को टिकट दिया जाता है तो कन्हैया के साथ उनकी चुनावी टक्कर देखना दिलचस्प होगा.

इसे भी पढ़ेंः #पुलवामा हमलाः भारत की बड़ी कूटनीतिक कामयाबी, मसूद के खिलाफ UN में प्रस्ताव लाएगा फ्रांस

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: