न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पीएम मोदी पर हमलावर हुए कन्हैया कुमार, कहा, राम की चिंता से ज्यादा, काम की चिंता होनी चाहिए

दलित संगठनों के प्रतिनिधियों ने  लोकसभा चुनाव से पूर्व मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार को नींद से जगाने के लिए मुंबई के चैत्यभूमि पर मार्च किया

49

NewDelhi : कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया की राष्ट्रीय परिषद के सदस्य और जवाहरलाल नेहरु यूनिवर्सिटी(जेएनयू ) के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने रविवार को दादर की चैत्यभूमि पर आयोजित रैली में प्रधानमंत्री  मोदी के खिलाफ निशाना साधा. इससे पूर्व कन्हैया कुमार ने 14 युवा संगठनों की संविधान बचाओ रैली में भी विचार रखे. बता दें कि रविवार को अयोध्या में जिस समय भाजपा की सहयोगी शिवसेना और विश्व हिंदू परिषद राम मंदिर मुद्दे पर जमा थे, ठीक उसी समय 150 से ज्यादा दलित संगठनों के प्रतिनिधियों ने  लोकसभा चुनाव से पूर्व मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार को नींद से जगाने के लिए मुंबई के चैत्यभूमि पर मार्च किया.  दलित संगठनों ने मोदी सरकार और भाजपा पर लोकतंत्र की हत्या और संविधान के सिद्धांतों को कुचलने का आरोप लगाते हुए मांग की कि सभी विपक्षी पार्टियां एकजुट होकर चुनाव लड़ें.

इसी क्रम में कन्हैया कुमार ने मोदी के खिलाफ बड़ा हमला बोला इन संगठनों में राज्य की कांग्रेस और राष्ट्रवादी पार्टी की युवा ईकाई भी शामिल थीं, जिन्होंने रैली की अगुवाई की. रैली में कन्हैया कुमार ने कहा, मोदी जी मन की बात करते हैं, पर भूख और काम की बात नहीं करते.

झारखंड की  रिपोर्ट में 14 लोगों की भूख से मौत की बात कही गयी

कन्हैया कुमार का तंज झारखंड की उस रिपोर्ट पर था जिसमें कथित तौर पर 14 लोगों की भूख से मौत की बात कही गयी थी. इस क्रम में कन्हैया ने एक अन्य सभा में मोदी पर हमलावर हुए कहा कि राम की चिंता से ज्यादा, सरकार को आपके काम की चिंता होनी चाहिए.  पूर्व जेएनयू छात्र ने कहा, हम मंदिरों का निर्माण करने के लिए सरकारों का चुनाव नहीं करते हैं, बल्कि स्कूलों, अस्पतालों का निर्माण, गरीबी उन्मूलन और नौकरियां देने के लिए करते हैं. कन्हैया ने प्रधानमंत्री परशिक्षण संस्थानों और लोकतांत्रिक परंपरा को कुचलने का आरोप लगाते हुए कहा, मोदी जी रोते बहुत हैं.  मैं तो ऑस्कर अवार्ड ऑर्गेनाइजेश को एक पत्र लिखने की योजना बना रहा हूं जिसमें बेस्ट एक्टर अवार्ड के लिए हमारे प्रधानमंत्री की एंट्री पर विचार किया जाये.  बता दें कि सीबीआई विवाद पर भी कन्हैया कुमार ने पीएम मोदी को निशाने पर लिया.

 

इसे भी पढ़ें :  कौल ब्राह्मण हैं राहुल गांधी और उनका गोत्र दत्तात्रेय, पुष्कर में पूजा की      

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: