Crime NewsNationalTOP SLIDER

फिल्मी अंदाज में पीछा कर कालू लामा को मारी गोली

18 मामले दर्ज थे कालू लामा उर्फ कालू नेपाली पर

Ranchi : लालपुर थाना क्षेत्र के व्यस्त और भीड़भाड़ वाले इलाके मोरहाबादी में गुरुवार को गैंगवार में मारे गये अपराधी कालू लामा उर्फ कालू नेपाली पर करीब 18 आपराधिक मामले दर्ज थे. राजधानी का कुख्यात अपराधी कालू लामा लूट, गोलीबारी, हत्या गैंगवार जैसी घटनाओं में शामिल रहा था. कालू लामा ने अपना गिरोह बना रखा था जिसमें करीब दो दर्जन अपराधी शामिल थे. इस गिरोह का मुख्य काम रंगदारी वसूलना था. एदलहातू, मोरहाबादी इलाके में इस गिरोह का खौफ था. गिरोह के लोग छोटे-छोटे व्यवसायियों और जमीन कारोबारियों से रंगदारी वसूलते थे.

कालू लामा पुलिस के लिए सिरदर्द बन गया था. गिरोह में एदलहातू निवासी कालू लामा उर्फ राजा लामा, शशि शर्मा, सूरज यादव, निलेश प्रसाद वर्मा उर्फ गोलू उर्फ खबरी, सुखदेवनगर थाना क्षेत्र के किशोरगंज रोड नंबर दो निवासी शैलेश बर्मन, किशोरगंज रोड नंबर पांच निवासी शुभम विश्वकर्मा, चूना भट्ठा निवासी रोहित चौरसिया, रोहित मुंडा सहित कई लोग शामिल हैं.

इसे भी पढ़ें :टीवी एक्टर्स श्वेता तिवारी के बिगड़े बोल, ‘मेरी ब्रा का साइज भगवान ले रहे, देखें वायरल VIDEO

काफी देर से पीछा कर रहे थे अपराधी

गैंगवार में मारे गये अपराधी कालू लामा का पीछा काफी देर से स्कूटी सवार अपराधी कर रहे थे. कालू लामा कार सवार था. पूर्व मुख्यमंत्री शिबू सोरेन के आवास से आगे बढ़ने पर कई जगह बैरिकेडिंग थी. इसी वजह से कार को जैसे धीरे किया. अपराधियों ने ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी. जिसमें तीन गोली कालू लामा को लगी. इसके अलावे राजू लामा और बब्बन विश्वकर्मा को भी गोली लगी है.

घटना की सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले की छानबीन की. घटनास्थल के आसपास मौजूद सीसीटीवी फुटेज में बाइक सवार अपराधियों को भागते हुए देखा गया है.

इसे भी पढ़ें:Air India के लिए सरकार को मिली फाइनल पेमेंट, आज से Tata का हो गया महाराजा

जेल से भी मांगता था रंगदारी

कालू लामा जब जेल में बंद था, उसके बाद भी वह लगातार राजधानी में लोगों से रंगदारी की मांग कर रहा था. जेल से वह फोन कर कारोबारियों को जान से मारने की धमकी देता था. जेल में रहने के बाद भी कालू लामा के खिलाफ लालपुर और बरियातू थाना में प्राथमिकी दर्ज हुई थी.

कालू के द्वारा रंगदारी मांगे जाने पर जो भी रंगदारी नहीं देता था, वह अपने गुर्गों की मदद से उस पर हमला करवा देता था. कालू लामा गैंग के लिए अपराधी निलेश उर्फ खबरी और दीपक उर्फ काढ़ा काम करता था.

कुख्यात कालू अपने सबसे करीबी रोहन श्रीवास्तव को जेल से फोन कर हत्या व रंगदारी वसूलने की योजना बताता था. उस योजना को रोहन के कहने पर खबरी व काढ़ा अमली जामा पहनाते थे.

इसे भी पढ़ें :श्रम मंत्रालय ने दी रेलवे माल गोदाम मजदूरों को मान्यता

दो-दो गर्लफ्रेंड थी

कालू लामा 16 अप्रैल 2020 की दोपहर पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया था. वह रातू इलाके के नावासोसो गांव के एक घर में छुप कर रह रहा था. उसके साथ कोई नेपाली लड़का भी था.

इस वजह से स्थानीय लोगों ने रातू थाने की पुलिस को सूचना दी. बताया जाता है कि कालू लामा दो गर्लफ्रेंड रखता था. दोनों को अक्सर मोबाइल और घड़ी गिफ्ट करता था. दोनों गर्लफ्रेंड कालू को अपराधी जानते हुए भी साथ घूमती-फिरती थीं.

इसे भी पढ़ें :पटना में कोचिंग संचालकों पर मामला दर्ज होने के बाद खान सर समेत कई संचालक फरार, मोबाइल भी किया बंद

जमीन विवाद में घटना को अंजाम दिये जाने की आशंका

बताया जा रहा है कि घटना को अंजाम जमीन विवाद की वजह से दिया गया है. लवकुश शर्मा गिरोह के सोनू शर्मा ने घटना को अंजाम देने के लिए बिहार के जहानाबाद से तीन शूटर बुलाये थे. दोनों के बीच वर्चस्व को लेकर काफी समय से विवाद चल रहा था. गुरुवार को मोरहाबादी मैदान के पास दो बाइक पर सवार सोनू समेत अन्य अपराधी एक कार की रेकी करते हुए पहुंचे थे. उस कार में अपराधी कालू लामा अपने साथियों के साथ बैठा था. अचानक अपराधियों ने उस कार को निशाना बना कर फायरिंग शुरू कर दी.

कार में बैठे लोग अपराधियों को देख कर भागने लगे लेकिन अपराधियों ने उसे जमीन पर पटक कर गोली मार दी. हालांकि मामले की अधिकारिक पुष्टि नहीं की गयी है. पुलिस सभी बिंदुओं पर जांच कर रही है.

इसे भी पढ़ें :गणतंत्र दिवस पर TMC का झंडा फहराकर गाया राष्ट्रगान! BJP नेता शुभेंदु अधिकारी ने VIDEO शेयर कर कहा ये शर्मनाक है

कालू लामा के इशारे पर हुईं चर्चित घटनाएं

1. लालपुर थाना क्षेत्र स्थित करमटोली के समीप दस लाख रुपये रंगदारी नहीं देने पर जमीन कारोबारी कुंदन सिंह को गोली मार दी गयी. इलाज के क्रम में कुंदन की मौत हो गयी. गोली मारने वाला शूटर राज वर्मा कालू लामा के गिरोह का शूटर है.

2. गोंदा इलाके में मनीष ओझा के घर में कालू लामा के इशारे पर फायरिंग की घटना हुई थी. कालू ने मनीष को एदलहातू में जमीन का कारोबार करने से मना किया था. लेकिन मनीष ने इसकी सूचना पुलिस को दी तो कालू के कहने पर सोनू शर्मा ने मनीष के घर पर कई राउंड फायरिंग कर दी.

3. कालू लामा ने अपने साथियों के साथ मिल कर किट्टी नाम के युवक की पत्थर से कूच कर हत्या कर दी थी. कालू लामा को पुलिस ने रातू इलाके से पकड़ा था, लेकिन उसने अपनी पहचान छिपा ली और पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया था. फिर कुछ दिनों के बाद ही वह पकड़ा गया.

इसे भी पढ़ें :वित्तीय कुप्रबंधन का शिकार हुआ झारखंड, राज्य में स्थापित हुआ जंगलराजः दीपक प्रकाश

Advt

Related Articles

Back to top button