Crime NewsJharkhandLead NewsRanchiTOP SLIDER

कालू लामा हत्याकांड: डेढ़ दर्जन संदिग्ध हिरासत में, रांची में ही छिपे सोनू शर्मा की तलाश पुलिस कर रही है छापेमारी

Ranchi: मोरहाबादी में गुरुवार की दोपहर हुए गैंगवार में पुलिस कई संदिग्ध आरोपी को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है. राजू चोटी, रंजीत, संतोष समेत करीब डेढ़ दर्जन से पुलिस पूछताछ में जुटी है. वही सीसीटीवी फुटेज में दिख रहे अपराधियों की पुलिस पहचान कर रही है. घटना को अंजाम देने के बाद लवकुश शर्मा का फूफेरा भाई सोनू शर्मा पैदल ही भागते देखा गया है. मालूम हो कि गैंगवार में अपराधी कालू लामा मारा गया, जबकि भाई राजू लामा व एक सहयोगी घायल हुआ है.

इसे भी पढ़ें : Jharkhand में एक साथ होगी मैट्रिक व इंटर की परीक्षा, तीन घंटे मिलेगा समय

पुलिस को जानकारी मिली है सोनू शर्मा रांची में ही कहीं छिपा है. छापेमारी के लिए पुलिस की करीब आधा दर्जन टीम बनाई गई है, जो घटना में शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए संदिग्ध इलाकों में छापेमारी कर रही है.लवकुश शर्मा की भी पुलिस को तलाश है. बताया जा रहा है कि जेल से छूटने के बाद उसने बिहार में अपना ठिकाना बना लिया है. वहीं से गिरोह को संचालित करता है. यह भी बताया जा रहा है कि फिलहाल वह गया में है.

बता दें कि लालपुर थाना क्षेत्र के व्यस्त और भीड़भाड़ वाले इलाके मोराबादी मे गुरुवार को गैंगवार में मारे गए अपराधी कालू लामा उर्फ कालू नेपाली पर करीब 18 अपराधिक मामले दर्ज है, कालू लामा व लवकुश शर्मा के बीच कफी समय से रंगदारी व जमीन कारोबार में वर्चस्व को लेकर विवाद चल रहा था. कालू लामा के वजह से लवकुश शर्मा का इलाके में वर्चस्व कम होते जा रहा था. कालू लामा गिरोह छोटे-छोटे व्यवसायियों और जमीन कारोबारियों से रंगदारी वसूलता था. कालू लामा पुलिस के लिए सिरदर्द बन गया था.

इसे भी पढ़ें : बालू माफिया के गुर्गों ने खनन निरीक्षक अधिकारी को कॉलर पकड़ गाड़ी से उतार कर जमकर पीटा, मूकदर्शक बने रहे सैफ के दो जवान

जेल में रहने के बाद भी मांगता था रंगदारी

कालू लामा जब जेल में बंद था. इसके बाद भी वह लगातार राजधानी में लोगों से रंगदारी की मांग कर रहा था. जेल से वह फोन कर कारोबारियों को जान से मारने की धमकी दे रहा था. जेल में रहने के बाद भी कालू लामा के खिलाफ लालपुर और बरियातू थाना में प्राथमिकी दर्ज हुई है. कालू के द्वारा रंगदारी मांगे जाने पर जो भी रंगदारी नहीं दे रहा है, वह अपने गुर्गो की मदद से उस पर हमला करवा दे रहा था. कालू लामा गैंग के लिए अपराधी निलेश उर्फ खबरी और दीपक उर्फ काढ़ा काम करता था. कुख्यात कालू अपने सबसे करीबी रोहन श्रीवास्तव को जेल से फोन कर हत्या व रंगदारी वसूलने की योजना बताता था. उस योजना को रोहन के कहने पर खबरी व काढ़ा अमलीजामा पहनाता था.

पुलिस को चकमा देकर हुआ था फरार

कालू लामा 16 अप्रैल 2020 की दोपहर पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया था. वह रातू इलाके के नावासोसो गाव के एक घर में छुपकर रह रहा था. उसके साथ कोई नेपाली लड़का भी था. इस वजह से स्थानीय लोगों ने रातू थाने की पुलिस को सूचना दी. बताया जाता है कि कालू लामा की दो गर्लफ्रेंड थी. दोनों को अक्सर मोबाइल और घड़ी गिफ्ट करता था. दोनों गर्लफ्रेंड यह जानते हुए भी कालू के साथ घूमती थी कि वह अपराधी है.

इसे भी पढ़ें : राष्ट्रीय कृमि मुक्ति अभियान : घर-घर जाकर दवा खिलायेंगे स्वास्थ्यकर्मी

 

Advt

Related Articles

Back to top button