JharkhandLead NewsNEWSRanchi

JUT : बगैर नियुक्ति नियमावली में संसोधन, 63 तकनीकी संस्थाओं का काम चल रहा जैसे तैसे

Ranchi : राज्य की एकमात्र तकनीकी विवि में नियुक्ति नियमावली के पेच में उलझी हुई है. अब तक न तो सेवा शर्त परिनियम बना और न ही नियुक्ति नियमावली बन पायी है. ऐसे में 54 विभिन्न तरह के तकनीकी संस्थानों का काम जैसे तैसे चल रहा है. सृजित पदों के मुकाबले यहां केवल वीसी ही स्थायी हैं. अन्य पद प्रतिनियुक्ति पर ही चल रहे हैं.

 

साल 2011 में शुरू हुए इस झारखंड टेक्निकल यूनिवर्सिटी (JUT) में नियुक्ति के लिए विश्वविद्यालय ने सेवा शर्त परिनियम व नियुक्ति नियमावली उच्च व तकनीकी शिक्षा विभाग को एक साल पूर्व ही उपलब्ध करायी थी, लेकिन इस नियुक्ति नियमावली के तहत नियुक्ति होने से पहले ही इसमें संसोधन किये जा रहे हैं.

advt

इसे भी पढ़ेंःRims News: कोरोना की तीसरी लहर की आशंका, हाईकोर्ट की फटकार और सरकार की सहमति के बाद भी नहीं आई सीटी स्कैन मशीन

उच्च व तकनीकी शिक्षा विभाग से मिली जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री सह विभागीय मंत्री हेमंत सोरेन ने इसमें संसोधन करने को कहा है. अब इस नियमावली को सातवें वेतनमान के आधार पर इसे तैयार करने का निर्देश दिया गया है. इसके बाद विभाग ने विश्वविद्यालय से इस बारे में जानकारी मांगा है.

 

विभाग ने मांगी यह जानकारी

विवि से विभाग ने विवि के प्राधिकारों के गठन, शक्ति व कार्य, प्राधिकारों के सदस्यों में से रिक्तियां भरने के तरीके, प्राधिकारों एवं उनकी समिति के सदस्यों को भुगतान किये जानेवाले भत्ते, प्राधिकार की बैठक की प्रक्रिया, प्राधिकारों के आदेशों व प्रमाण, कुलपति से भिन्न विवि के अन्य पदाधिकारियों की पदावधि, नियुक्ति पद्धति व सेवा शर्त, विवि के शिक्षकों व अन्य कर्मचारियों की अर्हता, विवि के शिक्षकों व अन्य कर्मचारियों के वर्गीकरण, नियुक्ति प्रक्रिया और सेवा की शर्त, विवि पदाधिकारियों, शिक्षकों व कर्मचारियों के लाभार्थ पेंशन, बीमा, भविष्य निधि व अन्य लाभ का गठन, अंगीभूत कॉलेजों में कोर्स, शोध, प्रयोग व व्यावहारिक प्रशिक्षण, विवि की डिग्री, डिप्लोमा व प्रमाण पत्र में प्रवेश के लिए शुल्क, छात्रवृत्ति, मेडल व पुरस्कार देने की शर्तें, हॉल व छात्रावास की स्थापना व रख-रखाव, छात्रावास व आवास के लिए शुल्क, डिग्री व डिप्लोमा देने के लिए दीक्षांत समारोह का आयोजन, मानद डिग्री व शैक्षिक विशिष्टता प्रदान करने, स्नातकों के पंजीकरण की शर्त व उसके रजिस्टर रखने आदि से संबंधित जानकारी मांगी है.

इसे भी पढ़ेंःJharkhand Corona Update: 12 जिलों में एक भी नया संक्रमित नहीं, रांची में 10 व पूर्वी सिंहभूम में 5 संक्रमित मिले

54 तकनीकी संस्थानों के संचालन की है जिम्मेदारी

विश्वविद्यालय के अधिकार क्षेत्र में पूरे झारखंड राज्य की तकनीकी शिक्षा की जिम्मेदारी निर्धारित की गयी है. इसके अंतर्गत दो गवर्नमेंट इंजीनियरिंग कॉलेज, 3 पीपीपी मोड के इंजीनियरिंग कॉलेज, 11 प्राइवेट इंजीनियरिंग कॉलेज, 17 सरकारी पॉलिटेक्निक कॉलेज, दो फार्मेसी कॉलेज, 18 आर्किटेक्चर कॉलेज और एक होटल प्रबंधन कॉलेज हैं.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: