न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जैसे शराब नहीं बंद हो सकती, वैसे ही टैक्स चोरी भी नहीं रुक सकती: महेश पोद्दार

85

Ranchi: जिस प्रकार लीकर कभी बंद नहीं हो सकता है, उसी प्रकार व्यापारियों द्वारा टैक्स की चोरी भी कभी नहीं रुक सकती है. यह बिल्कुल सच है कि व्यापारी टैक्स देना नहीं चाहते हैं. इंडिया से लेकर अमेरिका तक सभी ने शराब और ड्रग्स बंद करने का काफी प्रयास कि लेकिन किसी ने इस पर सफलता नहीं पायी. यह बातें राज्यसभा सांसद महेश पोद्दार ने कही. पोद्दार झारखंड इलेट्रॉनिक ट्रेडर्स एसो (जेटा) द्वारा आयोजित डायरी विमोचन कार्यक्रम में महेश पोद्दार व्यापारियों को संबोधित कर रहे थे.

राज्य सभा सांसद ने कहा कि देश में जीएसटी और नोटबंदी लागू किया गया, लेकिन इससे विपक्षी को कॉफी परेशानी हुई. कहा गया कि व्यापारी वर्ग काफी परेशान हुए, लेकिन सच नहीं है. दो साल पहले की अपेक्षा आज व्यापार करना काफी सुगम हो गया है. पहले जहां रोड परमिट के लिए सेल टैक्स ऑफिस में दो-दो दिन तक लाइन लगाना पड़ता था, कर्मचारियों को पैसा खिलाना पड़ता था. वहीं आज बेडरुम में लेटे-लेटे आप मिनटों में रिटर्न फाइल कर रहे हैं, रोड परमिट ले रहे हैं.

हर घर में टॉयलेट, बिजली, पानी पहुंच रहा है

महेश पोद्दार ने कहा कि आज हर घर में टॉयलेट, बिजली, पानी और गैस चुल्हा पहुंच रहा है. पहले जो असंभव था वह आज संभव होता दिख रहा है. भारत ने जो कर दिखाया है वह विश्व का लक्ष्य बन रहा है. ब्रिक्स के सम्मेलन में जब अपने देश की उपलब्धियों को बताया तो वहां के लोग भी आश्चर्यचकित रह गये थे. सरकार ने जो नारा दिया था वह पूरा होता दिख रहा है. घर-घर में बिजली पहुंच रही है. आज बिजली सुविधा नहीं है, बल्कि यह आवश्यकता बन चुकी है.

व्यापार में ट्राइबल्स को भी करें शामिल

सांसद महेश पोद्दार ने कहा कि हमें हर वर्ग के लोगों को साथ लेकर चलना होगा. तभी हम सही मायने में विकास कर सकेंगे. उन्होंने कहा कि व्यापार में ट्राइबल्स को भी शामिल करना चाहिए. शोषित और वंचित वर्ग के लोग जबतक आगे नहीं आयेंगे देश का विकास नहीं हो सकेगा. चैंबर में भी वंचित और ट्रइबल वर्ग के लोगों को मौका मिलना चाहिए.

इस अवसर पर बुजुर्ग व्यापारी बनवारी लाल अग्रवाल को लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड देकर सम्मानित किया गया. मौके पर सम्मानित अतिथि संजीव विजयवर्गीय, चेंबर अध्यक्ष दीपक मारु एवं जेटा के सभी सदस्य मौजूद थे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: