न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

खिलाफ में फैसला सुनाना जज साहब को पड़ा भारी,  वकील ने तड़ातड़ कई थप्पड़ मारे,  गिरफ्तार

एक सरकारी वकील ने एक जज को ही पीट दिया. कारण था कि जज साहब ने वकील के पिता के खिलाफ फैसला सुनाया था.  यह घटना नागपुर की डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में 26 दिसंबर को घटी.

1,122

Nagpur : एक सरकारी वकील ने एक जज को ही पीट दिया. कारण था कि जज साहब ने वकील के पिता के खिलाफ फैसला सुनाया था.  यह घटना नागपुर की डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में 26 दिसंबर को घटी. खबरों के अनुसार एक सरकारी वकील ने जज को पीटा और फिर वकील ने आत़्महत़्या करने की कोशिश की. लेकिन वहां मौजूद सुरक्षाकर्मियों ने वकील को पकड़कर पुलिस को सौंप दिया.  वकील की पहचान दीपेश पराटे के तौर पर हुई है.  दीपेश पराटे पिछले तीन साल से असिस्टेंट पब्लिक प्रॉसीक्यूटर है. बता दें कि डिस्ट्रिक्ट कोर्ट की छठी मंजिल पर सीनियर डिस्ट्रिक्ट और सेशन कोर्ट जज किरन देशपांडे लिफ्ट का इंतजार कर रहे थे.  जानकारी के अनुसार  यहीं पर वकील पराटे ने जज देशपांडे को गालियां दी और कई थप्पड़ मारे.  इसके बाद वकील ने आत़्महत़्या के इरादे से बिल्डिंग से कूदने का प्रयास किया, हालांकि वहां तैनात सुरक्षाकर्मियों ने वकील को पकड़कर पुलिस को सौंप दिया.   .

जज देशपांडे ने वकील के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई

बताया गया है कि असिस्टेंट पब्लिक प्रॉसीक्यूटर दीपेश पराटे ने जज देशपांडे द्वारा फैसला खिलाफ सुनाने के बाद इस घटना को अंजाम दिया. केस पराटे के पिता का जमीनी विवाद का मामला था.  वकील के पिता मदनलाल पराटे भी वकील हैं.  मदनलाल ने ही याचिका दाखिल की थी. जिसमें उनके चचेरे भाई से जमीन को लेकर विवाद था.  जज को पीटने वाले वकील के जूनियर के अनुसार जज द्वारा फैसला खुद के खिलाफ सुनाये जाने से पराटे परेशान थे.  इस घटना के बाद जज देशपांडे ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है.  जज ने अपनी शिकायत में कहा है कि, वकील द्वारा उऩ्हें कई थप्पड़ मारे गये, जिसके कारण कान में परेशानी हो गयी है.  पुलिस ने इस मामले में वकील के खिलाफ धमकी, सरकारी अधिकारी पर हमला, सरकारी काम में बाधा डालने का केस  दर्ज किया है.  पराटे को पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: