JharkhandLead NewsRanchi

JTET : राज्य में सर्टिफिकेट की मान्यता ही बढ़ी, 101000 उम्मीदवारों को अब तक नहीं मिली नौकरी

Ranchi : केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने शिक्षक पात्रता परीक्षा के सफल उम्मीदवारों के सर्टिफिकेट की मान्यता को उम्र भर करने का फैसला लिया है. इसका लाभ झारखंड के उम्मीदवारों को भी मिलेगा. केंद्र के इस आदेश के बाद झारखंड के 101000 उम्मीदवारों की सीधा लाभ तो मिल जायेगा पर इन्हें नौकरी कब मिलेगी यह नहीं पता.

इसे भी पढ़ें : शौहर ने गर्भवती पत्नी को व्हाट्सएप से दिया तीन तलाक, पीड़िता पहुंची पुलिस के पास

ram janam hospital
Catalyst IAS

एक लाख 18 हजार में मात्र 17 हजार को ही मिली नौकरी

The Royal’s
Sanjeevani
Pushpanjali
Pitambara

बताते चलें कि झारखंड में अब तक दो बार शिक्षक पात्रता परीक्षा (जेटेट) हुई है. पहली परीक्षा वर्ष 2013 में हुई. इस परीक्षा में 66 हजार उम्मीदवार सफल हुए थे. इन 66 हज़ार उम्मीदवारों में से लगभग 17 हज़ार उम्मीदवारों को नौकरी लगी थी. 49 हज़ार उम्मीदवार बिना नौकरी के रह गये. इसके बाद दूसरी शिक्षक पात्रता परीक्षा साल 2016 में ली गयी. इसमें 52 हजार उम्मीदवार सफल हुए थे. इन 52 हजार में से किसी भी उम्मीदवार को नौकरी नहीं मिली. इस तरह से कुल 101000 उम्मीदवारों को अब तक नौकरी नहीं मिली है.

कब-कब बढ़ी मान्यता

2013 और 2016 में जैक द्वारा जेटेट आयोजित किया गया. पहली बार हुई परीक्षा में सर्टिफिकेट की वैधता पांच वर्ष थी, जिसे वर्ष 2018 में दो वर्ष बढ़ाकर सात वर्ष किया गया था. इसकी वैधता भी मई 2020 में समाप्त हो गयी. इसके बाद दूसरी बार कोविड को देखते हुए सर्टिफिकेट की वैधता बढ़ाने की बात चल रही थी. साल 11 फरवरी 2011 को एनसीटीई ने आदेश जारी कर शिक्षक पात्रता परीक्षा के सर्टिफिकेट की वैधता को सात साल कर दिया. इस आदेश के बाद झारखंड में साल 2016 में दूसरी शिक्षक पात्रता परीक्षा ली गयी.

इसे भी पढ़ें : Ranchi News: चिड़ियाघर में बाघ शिवा की मौत, कोरोना की आशंका

Related Articles

Back to top button