Education & Career

JTET : पहली परीक्षा के 65439 उम्मीदवारों के सर्टिफिकेट रद्द,  दूसरी से 53870 स्टूडेंट्स को नियुक्ति का इंतजार

तीसरी परीक्षा नवंबर में संभावित

Ranchi : एनसीटीई की गाइडलाइन के मुताबिक झारखंड में अब तक 20 शिक्षक पात्रता परीक्षा हो जानी चाहिए थी. दो बार नियमावली बनने के बाद भी अब तक तीसरी परीक्षा नहीं हो पायी है. राज्य में अब तक दो बार ही शिक्षक पात्रता परीक्षा (जेटेट) हुई है. पहली परीक्षा 2013 में और दूसरी परीक्षा 2016 में.

झारखंड शिक्षक पात्रता परीक्षा के सफल 65439 उम्म्दवारों के सर्टिफिकेट की मान्यता खत्म हो गयी है. पहली परीक्षा में सफल सर्टिफिकेट की मान्यता पांच वर्ष ही थी, जिसमें बाद में दो वर्ष का विस्तार देते हुए सात वर्ष किया गया. इसके बाद भी मई 2020 में सर्टिफिकेट की मान्यता खत्म हो गयी.

इसे भी पढ़ेंः एक दिन के ठहराव के बाद फिर बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, जानें क्या है आज का भाव

53870 उम्मीदवारों को नियुक्ति का इंतजार

पहली शिक्षक पात्रता परीक्षा के बाद दूसरी शिक्षक पात्रता परीक्षा चार साल बाद 2016-17 में हुई. इस परीक्षा में क्लास एक से पांच तक में 16710 उम्मीदवार सफल हुए. वहीं कक्षा 6 से आठ तक में 37160 उम्मीदवार सफल हुए. इस तरह कुल 53870 उम्मीदवार सफल हुए. मगर ये उम्मीदवार परीक्षा पास करने के तीन साल बाद भी नियुक्ति का इंतजार ही कर रहे हैं.

दूसरी शिक्षक पात्रता परीक्षा के बाद परीक्षा की तीसरी नियामावली भी बन गयी. 1 अक्टूबर 2019 को इस नयी नियमावली को कैबिनेट की मंजूरी भी मिल गयी है. पर अब तक परीक्षा नहीं हो पायी है.

इसे भी पढ़ेंः चीन के साथ व्यापार करना है, सो “हुआ तो हुआ”

जुलाई में तीसरी परीक्षा की आवेदन प्रक्रिया संभावित

कैबिनेट से शिक्षक पात्रता परीक्षा की तीसरी नियमावली को मंजूरी मिले 08 माह चुके हैं. पर अब तक आवेदन प्रक्रिया तक शुरू नहीं हो पायी है. जैक अधिकारियों की मानें तो कोरोना की स्थिति को देखते हुए जुलाई के दूसरे सप्ताह से तीसरी परीक्षा की आवेदन प्रक्रिया शुरू हो सकती है. असल में अभी जैक की ओर से न ही 10वीं और न ही 12वीं परीक्षा का परिणाम जारी किया जा सका है.

ऐसे में जैक की पहली प्राथमिकता मैट्रिक-इंटर का रिजल्ट प्रकिशत करना है. जैक के मुताबिक जुलाई के दूसरे सप्ताह में आवेदन की प्रक्रिया शुरू होती है तो नवंबर तक परीक्षा ली जा सकती है. पर यह कोरोना की स्थिति के अनुसार ही संभव हो पायेगा.

एक नजर में दूसरी शिक्षक पात्रता परीक्षा

आवेदन 08 सितंबर से 20 सितंबर तक ऑनलाइन
परीक्षा 20 नवंबर 2016
परिणाम 10 मार्च 2017
रिजल्ट डिटेल्स कुल 53870 पास
लेवल-वन 88,735 परीक्षार्थी. 16,710 उत्तीर्ण

टॉप तीन जिले

पलामू 24.17 प्रतिशत
रांची 23.88 प्रतिशत
गोड्ड 23.68 प्रतिशत
लेवल-टू 1,60,841 परीक्षार्थी. 37,160 उत्तीर्ण

टॉप तीन जिले

लोहरदगा 43.36 प्रतिशत
खूंटी 38.89 प्रतिशत
सिमडेगा 37.48 प्रतिशत

नयी नियमावली के मुताबिक होगी तीसरी परीक्षा

जेटेट की तीसरी परीक्षा नयी नियमावली से होगी. इस नियमावली को कैबिनेट की मंजूरी दी जा चुकी है. ये हैं नियमावली की प्रमुख बातें-

  • भाषा के शिक्षक के लिए इसी विषय में टेट पास करना अनिवार्य होगा. क्षेत्रीय भाषाओं में पास करने के बाद ही अन्य कॉपियां जांची जायेगी. छठी से आठवीं की परीक्षा में अभ्यर्थी जिस विषय में स्नातक होंगे उसी का टेट दे सकेंगे. अभ्यर्थी का वही मुख्य विषय होगा.
  • इसके अलावा अनिवार्य रूप से दूसरे अभ्यर्थियों को भी हिंदी-अंग्रेजी में पासिंग मार्क्स लाना होगा. क्षेत्रीय व जनजातीय भाषा में क्वालीफाई करने पर ही विज्ञान, सामाजिक विज्ञान, भाषा या फिर पहली से पांचवीं के टेट की कॉपियां जांची जायेगी.
  • परीक्षा (टेट) में अब इंटर और स्नातक स्तर के प्रश्न पूछे जायेंगे. पहली से पांचवीं के लिए होने वाली टेट में मैट्रिक की जगह इंटर स्तरीय और छठी से आठवीं के लिए इंटर की जगह स्नातक स्तरीय प्रश्न पूछे जायेंगे.
  • छठी से आठवीं में अभ्यर्थियों से विज्ञान (साइंस) और सामाजिक विज्ञान (सोशल साइंस) में पांच खंडों में प्रश्न होंगे.
  • अभ्यर्थियों को कम से कम तीन खंडों के उत्तर देने होंगे.
  • अब अनिवार्य रूप से हर साल टेट होगा. टेट के सर्टिफिकेट की वैधता सात सालों तक होगी.

इसे भी पढ़ेंः भारत-चीन सीमा पर तनाव अब युद्ध की आहट में बदलने लगा है

Telegram
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close