न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जेएसएससी : कनीय अभियंताओं की स्थायी नियुक्ति के फॉर्म 500 रुपये में, अनुबंध वालों से वसूले जा रहे 2000

नगर विकास विभाग के सचिव का कहना है कि पिछली बार एक साल पहले 2000 रुपये इसी के लिए मांगे गए थे इसलिए इसबार भी 2000 ही आवेदन शुल्क निर्धारित है.

283
Kumar gaurav
Ranchi : नगर विकास एवं आवास विभाग में अनुबंध पर झारखंड सरकार 141 कनीय अभियंताओं की नियुक्ति करेगा. वहीं जेएसएससी द्वारा 100 स्थायी नियुक्ति भी की जाएगी. सबसे रोचक ये है कि कनीय अभियंताओं को स्थायी नियुक्ति के लिए आवेदन शुल्क अधिकतम 500 लगेंगे. वहीं विभाग तीन साल के अनुबंध के लिए आवेदकों से 2000 रुपये वसूल रहा है. अनुबंध पर होने वाली नियुक्ति राज्य तकनीकी शिक्षा पर्षद करेगा, वहीं 100 अन्य सीधी नियुक्ति के लिए राज्य कर्मचारी चयन आयोग नियुक्ति करेगा. जिसे राज्य के सभी 48 नगर निकायों में तैनात किया जाएगा. डिप्लोमा और इंजीनियरिंग के छात्र इसके जरीए अपनी बेरोजगारी को दूर कर पाएंगे. पर बेरोजगारी दूर करने के लिए जो आवेदन शुल्क मांगे गए हैं वो आवेदकों के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है. इसपर नगर विकास विभाग के सचिव का कहना है कि पिछली बार एक साल पहले 2000 रुपये इसी के लिए मांगे गए थे इसलिए इसबार भी 2000 ही आवेदन शुल्क निर्धारित है.
2017 में भी मांगे थे आवेदन
नगर विकास एवं आवास विभाग दवारा 141 कनीय अभियंताओं  की नियुक्ति के लिए 2017 में ही आवेदन मांगे थे. उसमें कनीय अभियंताओं की नियुक्ति अनुबंध पर होनी थी पर ये पूरी नहीं हो पायी थी. इन्हें तीन वर्षों के लिए अनुबंध पर रखा जाना था.विभाग द्वारा जारी सूचना के तहत कनीय अभियंता(असैनिक) के लिए 93 पद, कनीय अभियंता(विद्युत) के लिए 23 पद व कनीय अभियंता(यांत्रिक) के 25 पदों पर बहाली की जायेगी. जिसमें झारखंड सरकार के आरक्षण रोस्टर का भी पालन किया जायेगा. न्यूनतम आयु 18 वर्ष रखी गयी है.

मानव संसाधन की भारी कमी

नगर विकास विभाग समेत राज्य के सभी नगर निकाय मानव संसाधन की भारी कमी से जूझ रहा है. पथ निर्माण, भवन निर्माण, पेयजल स्वच्छता और जल संसाधन विभागों से इंजीनियरों को नगर विकास विभाग में प्रतिनियुक्ति में काम कराया जा रहा है. मंगलवार 9 अक्टूबर को हुए नगर विकास विभाग के अधिकारियो की बैठक में कार्मिक विभाग की हरी झंडी मिलने के बाद नियुक्ति प्रक्रिया में तेजी लायी गयी है.

क्या कहते हैं नगर विकास सचिव अजय कुमार

एक साल पहले इसी प्रक्रिया के लिए 2000 रुपये आवेदन शुल्क के रुप में लिए गये थे, इसी कारण इस बार भी 2000 रुपये लिये जा रहे हैं. 2000 रुपये लिये जा रहे हैं पर 27800 मिलेंगे भी तो.

क्या कहते हैं राज्य तकनीकी शिक्षा पर्षद

राज्य तकनीकी शिक्षा पर्षद के सचिव शिव बिलास शाह कहते हैं कि कितनी फीस ली जा रही है इस संबंध में मुझे कोई भी जानकारी नहीं है. किसी तरह का कोई कागज या पत्र मुझे प्राप्त नहीं हुआ है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: