JharkhandRanchi

8 महीने से JSSC को नहीं मिला स्थायी चेयरमैन, 26 सितंबर को JPSC अध्यक्ष का पद भी हो जायेगा रिक्त

Ranchi. झारखंड में कर्मचारियों की नियुक्ति करने वाली दो बड़ी एजेंसियां स्थायी चेयरमैन का इंतजार में बैठी हैं. ये दो बड़ी नियोक्ता एजेंसियां, झारखंड कर्मचारी चयन आयोग (जेएसएससी) और झारखंड लोकसेवा आयोग (जेपीएससी) हैं. इसमें झारखंड कर्मचारी चयन आयोग (जेएसएससी) में पिछले आठ माह से स्थायी चेयरमैन नहीं हैं. वहीं, जेपीएससी के चेयरमैन का कार्यकाल 26 सितंबर को पूरा कर रहा है. कार्यकाल पूरा होने में पांच दिन शेष बचे हुए हैं लेकिन जेपीएससी का अगला चेयरमैन कौन होंगा, यह तय नहीं हुआ है.

रतन कुमार के इस्तीफे के बाद खाली है पद

जेएसएससी के स्थायी चेयरमैन रतन कुमार थे. स्वास्थ्य का हवाला देते हुए उन्होंने जनवरी माह में ही इस्तीफा दे दिया था. उसके बाद से आयोग में चेयरमैन का पद खाली है. कर्मचारी चयन आयोग में स्थायी चेयरमैन नहीं होने से कई नियुक्ति प्रक्रिया रूकी हुई है. वहीं, नई वैकेंसी का विज्ञापन भी नहीं जारी किया जा रहा है. स्थायी चेयरमैन के अभाव में जेएसएससी के पास चार से अधिक महत्वपूर्ण नियुक्तियां अटकी पड़ी हैं.

इसे भी पढ़ें- नर्सिंग होम में डिलीवरी के दौरान दो बच्चों की मौत, पैसे और डिस्चार्ज को लेकर परिजनों ने किया हंगामा

advt

 

जेएसएससी में पेंडिंग हैं नियुक्तियां

कंबाइंड ग्रेजुएट लेवल: 12 सौ से अधिक पदों पर नियुक्ति के लिए एक वर्ष पहले आवेदन आमंत्रित किये गये थे. लेकिन, अभी तक परीक्षा के संबंध में नोटिफिकेशन जारी नहीं किया गया है. इस परीक्षा से सचिवालय सहायक, आपूर्ति पदाधिकारी, पंचायत कर्मचारी सहित छह विभिन्न पदों में नियुक्ति होनी थी.

पंचायत सचिव : इस पद के लिए नियुक्ति परीक्षा आयोजित की जा चुकी है. अभ्यर्थियों का डॉक्युमेंट वेरिफिकेशन भी हो चुका है. लेकिन, अभी तक फाइनल मेरिट लिस्ट जारी नहीं की गई है.

टीजीटी नियुक्ति परीक्षा: इस परीक्षा के माध्यम से हाई स्कूलों में शिक्षकों की नियुक्ति की जानी थी. लेकिन, कई विषय में नियुक्ति नहीं हो सकी है. इसमें इतिहास, संस्कृत, संगीत विषय शामिल हैं.

adv

पीआरटी नियुक्ति: हाई स्कूल शिक्षक नियुक्ति में प्राथमिक शिक्षकों के लिए कुल पद का 25 प्रतिशत सीट प्राथमिक शिक्षकों के लिए आरक्षित थी. लेकिन, योग्य अभ्यर्थी नहीं मिलने के कारण इसमें अधिकांश पद रिक्त रह गये. इन पदों पर सीधी नियुक्ति के माध्यम से भरे जाने को कार्यवाही चल रही थी. लेकिन, फिलहाल स्थगित है.

26 सितंबर को खत्म हो रहा जेपीएससी अध्यक्ष सुधीर त्रिपाठी का कार्यकाल

झारखंड लोक सेवा आयोग (जेपीएससी) के वर्तमान अध्यक्ष सुधीर त्रिपाठी का कार्यकाल 26 सितंबर को समाप्त हो रहा है. जेपीएससी अध्यक्ष के रूप में इनकी नियुक्ति पांच वर्ष या सेवानिवृत्ति उम्र सीमा 62 वर्ष ( जो पहले हो ) के रूप में अप्रैल 2019 में की गई थी. सुधीर त्रिपाठी की उम्र सीमा 26 सितंबर 2020 को अधिकतम 62 वर्ष पूरी हो रही है.

इसे भी पढ़ें- खराब मौसम के कारण चार्टर्ड एयरक्राफ्ट क्रैश, पायलट की मौत

वहीं, 26 सितंबर तक नये अध्यक्ष की नियुक्ति नहीं होने पर वरीय सदस्य को अध्यक्ष का प्रभार दिया जायेगा. राज्य सरकार द्वारा नाम चुनने के बाद इसे कैबिनेट से स्वीकृति दिलायी जायेगी. जिस पर राज्यपाल को अंतिम निर्णय लेना है. झारखंड लोकसेवा आयोग में डॉ एके चट्टोराज सबसे वरीय सदस्य हैं. इन्हें अध्यक्ष पद का प्रभार दिया जा सकता है.

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button