JharkhandRanchi

#JSLPS में अब नियुक्तियां सरकार के स्तर से कराने की तैयारी, पहले हुई नियुक्तियों की भी होगी जांच

Ranchi: झारखंड स्टेट लाइवलीहुड प्रोमोशन सोसाइटी (JSLPS) में अब नियुक्तियां सरकार के स्तर से किये जाने की तैयारी चल रही है. फिलहाल जेएसएलपीएस में नियुक्तियां जेएसएलपीएस अपने स्तर से करता है. जिसमें कई स्तर के काम होते हैं.

लगातार अंतराल पर जेएसएलपीएस में बहालियां होती रहती हैं. इसमें परीक्षा और इंटरव्यू के आधार पर लोगों को नियुक्त किया जाता है. यह नियुक्तियां राज्य स्तर से लेकर प्रखंड स्तर तक होती हैं. इसके अलावा अब ग्रामीण विकास विभाग अब जेएसएलपीएस में उच्च पदों पर अनियमित तौर पर हुई नियुक्तियों की भी जांच करने की योजना बना रहा है. फिलहाल जेएसएलपीएस के 90 फीसदी पदों पर अनुबंध पर नियुक्त कर्मी ही कार्यरत हैं.

इसे भी पढ़ें – झारखंड हाइकोर्ट का फैसला, बिहार के लोगों को राज्य में नहीं मिलेगा आरक्षण का लाभ

ram janam hospital
Catalyst IAS

सरकारी कार्यक्रमों में भीड़ बनती रही हैं जेएसएलपीएस की दीदीयां

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

जेएसएलपीएस ग्रामीण स्तर पर महिलाओं को स्वरोजगार देने में काफी हद तक मददगार साबित हुआ है. महिलाओं के स्वावलंबन को लेकर भी जेएसएलपीएस की भूमिका अहम है. पर, इन सब कामों के अलावा जेएसएलपीएस से जुड़ी महिलाओं को सरकारी कार्यक्रमों में भीड़ बढ़ाने के लिए सरकार इस्तेमाल करती रही है.

रघुवर दास की सरकार में हर तरह के बड़े आयोजनों में भीड़ बढ़ाने के लिए महिलाओं को कार्यक्रमों में शामिल कराया गया था.

इसे भी पढ़ें – जिम्मेदारी थी पेयजल विभाग की, टेंडर निकाला भवन निर्माण विभाग ने, विधायक की आपत्ति के बाद रद्द हुआ टेंडर

कैंपस के माध्यम से भी युवाओं को किया गया है नियुक्त

जेएसएलपीएस में एक पद यंग प्राफेशनल का भी है. यंग प्रोफेशनल के पदों पर कैंपस के माध्यम से भी नियुक्तियां की गयी हैं. जेएसएलपीएस की टीम राज्य सहित देश भर के अच्छे कॉलेजों में जाकर कैंपस के माध्यम से युवाओं को चयनित करती रही है, जिसके बदले युवाओं को अच्छा वेतन भी दिया जाता है. इसके अलावा जेएसएलपीएस में दसवीं से लेकर पोस्ट ग्रेजुएट योग्यता रखनेवाले युवक-युवतियों की भी नियुयिक्तयां की जाती हैं, जिसे नयी कार्ययोजना तैयार होकर प्रभावी हो जाने के बाद सरकार के स्तर से भरा जायेगा.

इसे भी पढ़ें – ऑनलाइन म्यूटेशन, लगान, निबंधन, इंटीग्रेशन ऑफ डाटा के मामले में एनआइसी ने नहीं लागू की समिति की अनुशंसा

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button