न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

नैक ग्रेडिंग वाला झारखंड का पहला निजी विवि बना जेआरयू

आधारभूत संरचना की कमी के कारण जेआरयू को मिला 'सी' ग्रेड

185

Ranchi: झारखंड में पहली बार किसी प्राइवेट यूनिवर्सिटी को नैक से मान्यता मिली है. झारखंड राय यूनिवर्सिटी(जेआरयू) नैक से मान्य हो गया है. पिछले महीनों नैक की टीम ने इस विश्वविद्यालय को दौरा कर इस प्राइवेट यूनिवर्सिटी को मूल्यांकन किया. मूल्यांकन के बाद नैक ने जेआरयू को सी ग्रेडिंग दी है.

इसे भी पढ़ें – NEWS WING IMPACT: आदिवासी महिलाओं के साथ दरिंदगी करने वाले क्रशर मालिकों का क्रशर सील

इस संबंध में नैक के वेबसाइट पर सूचना भी उपलब्ध करा दी है. ज्ञात हो कि झारखंड सरकार के उच्च एवं तकनीकी शिक्षा विभाग ने राज्य के प्राइवेट यूनिवर्सिटी को निर्देश दिया था कि राज्य में जो भी प्राइवेट यूनिवर्सिटी पांच से अधिक वर्ष से चल रहे हैं, उन्हें नैक का मूल्यांकन करना अनिवार्य है. इसी के तरह जेआरयू ने नैक मूल्यांकन करवाया है.

बहरहाल जो भी जेआरयू राज्य का पहला निजी विश्वविद्यालय बन गया है, जिसने अपनी यूनिवर्सिटी का मूल्यांकन नैक से करवा लिया है. जेआरयू के बाद झारखंड इक्फाई यूनिवर्सिटी, साईनाथ यूनिवर्सिटी और उषा मार्टिन यूनिवर्सिटी ऐसी प्राइवेट यूनिवर्सिटी हैं, जिनके झारखंड में स्थापना को पांच वर्ष से अधिक हो गया है. देखना ये होगा कि जेआरयू की तर्ज पर ये प्राइवेट यूनिवर्सिटी अपना नैक मूल्यांकन कब तक कराकर राज्य सरकार को रिपोर्ट सौंपती हैं.

इसे भी पढ़ें – 140  IAS और 60 IFS बायोमिट्रिक से नहीं बनाते हैं हाजिरी, राज्य प्रशासनिक सेवा अफसरों ने भी छोड़ा हाजिरी बनाना

अधारभूत संरचना की कमी के कारण मिला ‘सी’ ग्रेड

silk_park

जेआरयू कैंपस के मूल्यांकन के दौरान आयी नैक की टीम ने तीन दिनों तक जेआरयू कैंपस को दौरा किया था. नैक टीम ने जेआरयू में आधारभूत सरंचना की कमी की बात दौरे के दौरान कही थी. टीम के सदस्यों ने यूविर्सिटी में चल रहे कोर्स एवं शिक्षकों की संख्या में पर भी कड़ी प्रक्रिया दी थी. टीम की रिपोर्ट के बाद यह स्पष्ट हो गया है कि न्यूज विंग ने झारखंड राय यूनिवर्सिटी में व्याप्त कमियों को प्रमुखता से उठाया था, उसे नैक ने भी माना है. यूनिवर्सिटी में आधारभूत संरचनाओं की कमी के कारण जेआरयू को नैक की ओर से ‘सी’ ग्रेडिंग मिला और स्कोर 1.95 दिया गया है.

इसे भी पढ़ेंःपाकुड़ समाहरणालय से लेकर तमाम शहर में डीसी के खिलाफ आजसू की पोस्टरबाजी, कहा – डीसी साहब जनता के सवालों का दें जवाब

नैक का मूल्यांकन होना गर्व की बात-JRU

जेआरयू के कुलसचिव पीयूष रंजन ने कहा नैक का मूल्यांकन के बाद ग्रेडिंग आना यूनिवर्सिटी के लिए गर्व की बात है. नैक मूल्यांकन के बाद यूनिवर्सिटी को एक नई पहचान मिली है. आनेवाले समय में यूनिवर्सिटी और बेहतर प्रयास करेगी, ताकि यूनिवर्सिटी झारखंड में विशेष पहचान बना सके.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: