Ranchi

आने वाले साल में 6000 सोलर स्ट्रीट लाइट लगायेगी JREDA, 2018-19 की योजना को अगले वित्त वर्ष में किया जायेगा पूरा

Ranchi: झारखंड रिन्यूएबल एनर्जी डेवलपमेंट एजेंसी (जरेडा) की ओर से दो साल बाद सोलर स्ट्रीट लाइट का टेंडर फाइनल किया जायेगा. साल 2018-19 और 2019-20 में नये सोलर स्ट्रीट लाइट के लिये जरेडा की ओर से स्वीकृति नहीं दी गयी.

पुरानी सोलर स्ट्रीट लाइट योजनाएं पूरी नहीं होने और ऊर्जा विभाग से फंडिंग नहीं होने के कारण जरेडा में इन योजनाओं पर रोक लगायी गयी.

इसे भी पढ़ेंः#Dhanbad: बाघमारा विधायक ढुल्लू महतो से मांगी गयी पांच करोड़ की रंगदारी

2018-19 का लक्ष्य 2020-21 में होगा पूरा

ऐसे में पिछले दो साल से जरेडा में नये सोलर स्ट्रीट लाइट की स्वीकृत कर नहीं लगाये गये. जरेडा से जानकारी मिली की साल 2018-19 के लिये लगभग छह हजार स्ट्रीट लाइट के टेंडर हो चुके है.

राज्य में आचार संहिता खत्म होते ही टेंडर की फाइनल सूची जारी की जायेगी. सारी प्रक्रियाएं पूरी हो चुकी है. साल 2018-19 के लक्ष्यों को जरेडा 2020-21 में पूरा करेगी. वहीं इसके बाद साल 2019-20 के लक्ष्यों पर काम किया जायेगा.

ऊर्जा विभाग नहीं करता समय पर फंडिंग

जरेडा से जानकारी मिली कि ऊर्जा विभाग की ओर से समय पर फंडिंग नहीं किये जाने के कारण जरेडा समय पर लक्ष्य पूरा नहीं कर पाती और न ही पिछले दो साल से इन योजनाओं पर कार्य किया गया. साल 2017-18 का लक्ष्य ही जरेडा ने 2018-19 में शुरू किया, कार्य अब भी चल रहा है.

इसे भी पढ़ेंः#CAA_NRC पर BJP MLA के बिगड़ैल बोल, कहा- विरोध कर रहे लोगों का एक घंटे में हो सकता है सफाया

इस साल राज्य सरकार ने 1400 स्ट्रीट लाइट ग्रामीण क्षेत्रों में लगाने का लक्ष्य रखा, लेकिन इसमें मात्र 463 लगाये गये. जो लक्ष्य से काफी कम है. जरेडा से जानकारी मिली कि इस पर काम अब भी जारी है. आने वाले वित्तीय वर्ष में इसे पूरा कर लिया जायेगा, साथ ही नये लक्ष्यों को भी पूरा कर लिया जायेगा.

समय के बाद ही पूरे हुए सभी लक्ष्य

इससे पहले जरेडा की ओर से जितने भी लक्ष्य पूरे हुए वो अपने निर्धारित समय के बाद ही पूरे हुए. सूत्रों की मानें तो विभाग की ओर से लक्ष्य तो दिया गया, लेकिन फंडिंग समय पर नहीं हुई. समय पर फंडिंग नहीं होने के कारण ही साल 2017-18 के लक्ष्य पर अब तक कार्य जारी है.

क्योंकि इस साल की फंडिग ऊर्जा विभाग ने 2018 में की. इसके पहले भी साल 2016-17 में सोलर स्ट्रीट लाइट लगे ही नहीं, क्योंकि इस साल के लिये विभाग ने न ही लक्ष्य दिया और न ही फंड. जरेडा को समय पर फंड नहीं मिलना कार्यों में होने वाली देर भी है.

इसे भी पढ़ेंः#HemantSoren ने राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश किया, 29 को लेंगे शपथ

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: