JamshedpurJharkhandSaraikela

ADITYAPUR : आदित्यपुर-सरायकेला रोड पर दुर्घटनाओं के लिए जनकल्याण मोर्चा के निशाने पर जेआरडीसीएल, 24 सितंबर को निकलेगा आक्रोश यात्रा

Adityapur : आदित्यपुर-कांड्रा-सरायकेला रोड पर आए दिन हो रही दुर्घटनाओं के लिए सामाजिक संस्था जनकल्याण मोर्चा ने  सड़क निर्माण और इसकी देखरेख का जिम्मा लेनेवाली कंपनी जेआरडीसीएल को जिम्मेदार ठहराया है. मोर्चा के अध्यक्ष ओम प्रकाश का कहना है कि जेआरडीसीएल को झारखंड सरकार के पथ निर्माण विभाग की ओर से हर छह महीने पर 22 करोड़ 9 हजार 22 रुपये दी जाती है. बावजूद इसके कंपनी अपनी जिम्मेवारियों से भाग रही है. नतीजन इस सड़क पर आए दिन हो रही दुर्घटनाओं में लोगों की जान जा रही है. इसके खिलाफ जनकल्याण मोर्चा ने आदित्यपुर अधिवक्ता संघ के सहयोग से 24 सितंबर को क्षेत्र में आक्रोश यात्रा निकालने का निर्णय लिया है. इसकी जानकारी जिले के उपायुक्त के अलावा पुलिस अधीक्षक और सरायकेला के अनुमंडल पदाधिकारी को दे दी गई है.

कहा-राहगीरों के लिए भय का पर्याय बना सड़क

जनकल्याण मोर्चा के अध्यक्ष का कहना है कि जेआरडीसीएल की लापरवाही के कारण आदित्यपुर-कांड्रा-सरायकेला रोड राहगीरों के लिए भय का पर्याय बन गया है. हालत यह है कि आदित्यपुर खरकाई पुल से टायो गेट तक मात्र 10 से 15 प्रतिशत स्ट्रीट लाइट ही जल रहे हैं, जबकि सड़क पर कई जगहों पर गड्ढ़ों के साथ दरार तक उभर आया है. इतना ही नहीं, सड़क पर लगे रिफ्लेक्टर भी उड़ गए हैं.

आश्वासन देने के बाद भी किया गया टाल-मटोल

इस संबंध में जनकल्याण मोर्चा और आदित्यपुर अधिवक्ता संघ ने पूर्व में कई बार संबंधित विभाग से पत्राचार भी किया था. साथ ही मोर्चा के अध्यक्ष ओम प्रकाश ने जिले के उपायुक्त से भी मुलाकात की. दुर्गा पूजा को देखते हुए सड़क पर लगे सभी स्ट्रीट लाइट सहित अन्य सुविधाओं को बहाल करने की मांग जेआरडीसीएल से की गई. इस दिशा में साकारात्मक आश्वासन भी मिला. फिर भी 20 सितंबर हो गये, लेकिन कंपनी की ओर से इस दिशा में अब तक कोई काम शुरू नहीं किया गया है. इसकी के खिलाफ 24 सितंबर की शाम सात बजे से  आदित्यपुर में आक्रोश यात्रा निकालने का फैसला किया गया है. इसकी तैयारियां शुरू कर दी गई है.

इसे भी पढ़ें-Saraikela : गम्हरिया में बहन के घर जा रही युवती से दुष्कर्म, पुलिस ने 24 घंटे के अंदर दो आरोपियों को किया गिरफ्तार

Related Articles

Back to top button