JharkhandMain SliderRanchi

JPSC UPDATE : परीक्षा नियंत्रक और सचिव से हुई अभ्यर्थियों की वार्ता, संशय अब भी बरकरार, आश्वासन मिला- थोड़ी ही देर में सुना दिया जायेगा आयोग का फैसला

Ranchi : छठी जेपीएससी मुख्य परीक्षा को लेकर अभ्यर्थियों और आयोग के बीच रार अब भी बरकरार है. सर्कुलर रोड स्थित जेपीएससी कार्यालय के बाहर रविवार शाम चार बजे तक ऐसे अभ्यर्थियों की भीड़ और अधिक बढ़ गयी, जो मुख्य परीक्षा को स्थगित करने और अनियमितताओं की उच्चस्तरीय जांच की मांग कर रहे हैं. इस बीच नया अपडेट यह है कि अभ्यर्थियों के पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल और जेपीएससी के परीक्षा नियंत्रक व सचिव के बीच वार्ता हुई है. वार्ता के बाद जेपीएससी कार्यालय से बाहर आये अभ्यर्थियों के प्रतिनिधिमंडल ने मीडिया को बताया कि वार्ता में उन्होंने स्पष्ट रूप से अपनी मांगें रखीं. इस दौरान परीक्षा नियंत्रक और सचिव ने उन्हें आश्वासन दिया है कि वे मुख्य परीक्षा को स्थगित करने और अनियमितताओं की जांच की अभ्यर्थियों की मांग को रविवार को ही आयोग के प्रभारी अध्यक्ष के समक्ष रखेंगे. अधिकारीद्वय ने प्रतिनिधिमंडल से कहा है कि अभ्यर्थी कार्यालय के बाहर ही शांतिपूर्वक इंतजार करें, अभी थोड़ी ही देर में वे मांगों पर आयोग के प्रभारी अध्यक्ष के फैसले से अभ्यर्थियों को अवगत करा देंगे.

मांगों पर आयोग में मंथन शुरू

Catalyst IAS
ram janam hospital

इधर, अभ्यर्थियों से हुई वार्ता के बाद आयोग के परीक्षा कंट्रोलर और सचिव ने आयोग के प्रभारी अध्यक्ष श्री चट्टोराज के साथ अभ्यर्थियों की मांगों पर मंथन शुरू कर दिया है. इस मंथन के बाद आयोग के फैसले से जल्द ही अभ्यर्थियों को अवगत करा दिये जाने की उम्मीद जतायी जा रही है.

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

जेपीएससी कार्यालय के बाहर ही जमे हैं अभ्यर्थी

आयोग के परीक्षा नियंत्रक और सचिव से मिले आश्वासन के बाद अभ्यर्थी जेपीएससी कार्यालय के बाहर ही खड़े हैं और आश्वासन के अनुरूप प्रभारी अध्यक्ष के फैसले का इंतजार कर रहे हैं. अभ्यर्थियों के प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि मुख्य परीक्षा के स्थगन को लेकर व्याप्त संशय को आयोग ने अभी तक दूर नहीं किया है. अभी भी संशय वाली ही स्थिति बनी हुई है. प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि अभ्यर्थियों की मांगें जायज हैं, उनके पास अनियमितता के सारे प्रमाण हैं. अभ्यर्थियों ने कहा कि उनके प्रतिनिधिमंडल ने परीक्षा नियंत्रक और सचिव से वार्ता के दौरान यह स्पष्ट कर दिया है कि जब तक सोमवार (28 जनवरी) से होनेवाली छठी जेपीएससी मुख्य परीक्षा को स्थगित नहीं कर दिया जाता और उच्चस्तरीय जांच कमिटी गठित कर पूरे मामले में बरती गयी अनियमितताओं की जांच करने का फैसला आयोग द्वारा नहीं ले लिया जाता है, तब तक वे अपनी मांगों पर कायम रहेंगे. हालांकि, प्रतिनिधिमंडल ने उम्मीद भी जतायी कि परीक्षा नियंत्रक और सचिव से हुई उनकी वार्ता का कोई न कोई सकारात्मक फल जरूर निकलेगा, क्योंकि अधिकारीद्वय ने उन्हें आश्वस्त किया है कि उनकी मांगों पर विचार किया जा रहा है और थोड़ी ही देर में आयोग के प्रभारी अध्यक्ष श्री चट्टोराज के फैसले की सूचना अभ्यर्थियों को दे दी जायेगी. इधर, अभ्यर्थी जेपीएससी कार्यालय के बाहर शांतिपूर्वक खड़े हैं और आयोग के फैसले का इंतजार कर रहे हैं. इस दौरान अभ्यर्थियों ने आपस में चंदा करके पैसे इकट्ठा कर अपने लिए खाना मंगाया और जेपीएससी कार्यालय के बाहर ही भोजन किया.

JPSC UPDATE : परीक्षा नियंत्रक और सचिव से हुई अभ्यर्थियों की वार्ता, आश्वासन मिला- थोड़ी ही देर में सुना दिया जायेगा आयोग का फैसला
शांतिपूर्ण आंदोलन कर रहे छात्रों ने आपसी सहयोग से सभी छात्रों के लिए भोजन की व्यवस्था की.

इसे भी पढ़ें- जानें वो वजहें, जो JPSC MAINS परीक्षा स्थगित करने की मांग को ठहराती हैं जायज

Related Articles

Back to top button