न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

तीन सालों से विज्ञापन निकालकर चुप है JPSC, परीक्षा के इंतजार में खत्म हो रही छात्रों की उम्र   

सभी परीक्षार्थी एक दो नहीं बल्कि तीन-तीन साल से इंतजार कर रहे हैं.

1,488

Kumar  Gurav

Ranchi : राज्य में जेपीएससी के तहत 2015 से लेकर 2018 तक विभिन्न राज्य सेवाओं के लिए नियुक्ति निकाली गयी है. पर दुर्भाग्य ये है कि जेपीएससी अधिकतर नियुक्तियों के विज्ञापन निकालकर शांत ही हो गयी है. सभी विज्ञापनों के लिए लाखों छात्रों ने अप्लाई किया है. पर अब बस परीक्षा के इंतजार में ही हैं. सभी परीक्षार्थी एक दो नहीं बल्कि तीन-तीन साल से इंतजार कर रहे हैं. लेकिन इसके बावजूद ना तो परीक्षा की तारीख का पता चल पाया है और ना ही जेपीएससी इस दिशा में कोई पहल ही कर रही है. जेपीएससी के तहत सहायक लोक स्वास्थ्य पदाधिकारी, फूड सेफ्टी ऑफिसर, अस्सिटेंट इंजीनियर, अकाउंट ऑफिसर, जिला खेल पदाधिकारी, पॉलिटेक्निक कॉलेजों में विभागाध्यक्ष की नियुक्ति के लिए विज्ञापन निकाला गया था. मगर अभी तक इस पदों के लिये नियुक्ति नहीं की जा सकी है. ऐसे में छात्रों की उम्र जा रही और वे नियुक्त होने के इंतजार में हैं.

सिविल सेवा परीक्षा चार सालों में भी नहीं हो पायी पूरी

जेपीएससी छठी सिविल सेवा परीक्षा चार सालों में भी पूरी नहीं हो पायी है. लंबे इंतजार के बाद इसी  फरवरी में मेंस की परीक्षा पूरी करा ली गयी है. परीक्षा के पूरे होने की संभावना अभी भी हाईकोर्ट के फैसले पर निर्भर है. सिविल सेवा परीक्षा के रिजल्ट में भारी फेरबदल भी देखा जा चुका है.

कई परीक्षाओं के नोटिफिकेशन को कर दिया गया रद्द

जेपीएससी द्वारा निकाले गये कई परीक्षाओं के विज्ञापन तो निकाले गये, लेकिन परीक्षा लिये बिना ही विज्ञापन को वापस ले लिया गया. जबकि कई के नोटिफिकेशन में तो तीन बार बदलाव भी किया गया है. पॉलिटेक्निक में विभागाध्यक्षों के लिए 2015 में निकले नोटिफिकेशन को पहले वापस लिया गया और फिर 2017 में आवेदन मांगा गया. 2016 में अस्सिटेंट इंजीनियर की नियुक्ति के लिए नोटिफिकेशन को 2017 में फिर से जारी किया गया. उसके बाद उसे भी वापस ले लिया गया. अस्सिटेंट इंजीनियर के अन्य पदों के साथ मार्च में नोटिफिकेशन जारी की जा सकती है. जिला खेल पदाधिकारी और अकाउंट ऑफिसर के लिए फॉर्म तीन साल पहले ही भरा जा चुका है, पर परीक्षा के लिए अभी तक कोई भी नोटिफिकेशन नहीं निकला है.

डूब जा रहा है सैकड़ों छात्रों का पैसा

विभिन्न नियुक्ति के लिए अप्लाई करने पर जेनरल कैटेगरी के छात्रों से करीब 600-1000 रुपये तक आवेदन शुल्क के रुप में वसूले जाते हैं. तीन-तीन साल तक परीक्षा नहीं होती है. कई के नोटिफिकेशन को रद्द कर दिया जाता है. ऐसे में हजारों छात्रों के पैसे डूब जाते हैं. साथ ही छात्रों के आवेदन के लिए उम्र की सीमा भी तय होती है. साथ ही तीन चार साल तक परीक्षा नहीं होने की स्थिति में उम्र भी निकल जाता है.

किन पदों के लिए जेपीएससी से निकला है विज्ञापन

सहायक लोक स्वास्थ्य पदाधिकारी   56 पद

फूड सेफ्टी ऑफिसर  –   24 पद

अकाउंट ऑफिसर      –    16 पद

राजकीय पॉलिटेक्निक कॉलेज विभागाध्यक्ष –  16 पद

जिला खेल पदाधिकारी –     24 पद

अस्सिटेंट इंजीनियर  –     100 अधिक पद संशोधित किया जाना है पदों की संख्या में होगी बढ़ोतरी

जेपीएससी सिविल सेवा –  326 पद

रणेंद्र कुमार जेपीएससी सचिव

इस बारे में जब सचिव से सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि ऑफिस टाईम में सवाल पूछने पर जवाब भी दिया जा सकता है. और पूछकर बताया जा सकता है. अब घर में बैठकर हम कहां से बताएंगे.

इसे भी पढ़ें – रांची में इंस्पेक्टर रैंक के कई अधिकारियों का तबादला, कई थाना प्रभारी भी इधर-उधर

इसे भी पढ़ें – डीवीसी के उत्थान और प्रगति में बराबर के सहभागी हैं सप्लाई मजदूर : पूर्व डीजीएम

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: