JharkhandRanchi

अध्यक्ष विहीन है JPSC, तीन माह पहले ही आयोग ने सरकार को दी थी अध्यक्ष पद खाली होने की सूचना, फिर भी कोई पहल नहीं

Ranchi : झारखंड लोक सेवा आयोग (जेपीएससी) के अध्यक्ष के विद्यासागर का कार्यकाल 13 नवंबर को समाप्त हो गया. के विद्यासागर के बाद वर्तमान में जेपीएससी अध्यक्ष पद रिक्त है. इसी दिशा में पहल करते हुए कार्मिक विभाग मुख्यमंत्री के पास जेपीएससी के अध्यक्ष पद पर नियुक्ति का प्रस्ताव भेज चुका है. मुख्यमंत्री सचिवालय द्वारा तीन नामों पर स्वीकृति होने के बाद इसे अंतिम रूप से निर्णय लेने के लिए राज्यपाल को भेजा जायेगा.

इसे भी पढ़ें- आदिवासी-मूलवासियों की सरकारी नियुक्ति में जानबूझकर छंंटनी की जाती हैः रामटहल चौधरी

13 नवंबर को खत्म हो चुका है के विद्यासागर का कार्यकाल

विगत 13 नवंबर को के विद्यासागर का कार्यकाल खत्म होने के बाद जेपीएससी अध्यक्ष के रूप में किसी ने योग्यदान नहीं दिया है. हालांकि, आयोग ने तीन माह पूर्व ही सरकार को अध्यक्ष पद के खाली होने की जानकारी दे दी थी. सूचना के बाद भी सरकार की ओर से इस दिशा में पहल नहीं की गयी. वहीं, किसी को अध्यक्ष पद का प्रभार भी नहीं सौंपा गया. नियमत: अध्यक्ष के हटने पर आयोग के ही वरीय सदस्य को अध्यक्ष का प्रभार दिया जाता है, लेकिन सरकार की तरफ से इस दिशा में पहल नहीं की गयी है. आयोग के वरीय सदस्य के रूप में डॉ एके चट्टोराज एवं डॉ सुखी उरांव कार्य कर रहे हैं. चार सदस्यों में से दो सदस्य ही कार्य रहे हैं, दो सदस्य के पद रिक्त हैं. वहीं, आयोग के सचिव जगजीत सिंह की चुनाव प्रक्रिया में शामिल होने  के लिए तेलंगाना में पदस्थापना कर दी गयी है, जो संभवत: 13 दिसंबर तक तेलंगाना में चुनाव डयूटी में रहेंगे.

इसे भी पढ़ें- करार की मियाद पूरी, 26,000 करोड़ के प्रोजेक्ट में दो साल की देरी, 2019 में प्लांट से शुरू होना था…

के विद्यासागर नहीं करा पाये छठी जेपीएससी मुख्य परीक्षा

के विद्यासागर के अध्यक्ष बनने के बाद यह उम्मीद की जा रही थी कि उनके कार्यकाल में ही छठी जेपीएससी सिविल सेवा की मुख्य परीक्षा संपन्न होगी, लेकिन उनका कार्यकाल खत्म होने के बाद ही छठी जेपीएससी सिविल सेवा की मुख्य परीक्षा जनवरी में होनी है. सबसे कमाल की बात रही कि तमाम विवाद के बाद के विद्यासागर द्वारा छठी जेपीएससी सिविल सेवा की मुख्य परीक्षा की तिथियों की घोषण की गयी. अब देखना है कि नये जेपीएससी अध्यक्ष छठी जेपीएससी सिविल सेवा की मुख्य परीक्षा के सफल आयोजन में कितने सफल होते हैं, साथ ही आयोग की कई परीक्षा को सुचारू रूप से कैसे आयोजन करते हैं.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close