न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#JPSC: 18 साल में ली 6 परीक्षाएं, 4 विवादित, अब दावा 6 महीने में होंगी एक साथ 3 परीक्षाएं

483

Rahul Guru

Ranchi: बेरोजगारों के दर्द को बढ़ाने में जितनी भूमिका जेपीएससी की रही है शायद ही झारखंड में किसी और की हो. जिस जेपीएससी को 18 साल में 18 सिविल सेवा परीक्षाएं ले लेनी चाहिए थीं, उनमें अब तक मात्र 6 परीक्षाएं ही ली हैं. इन 6 परीक्षाओं में भी चार के मामले हाइकोर्ट में लंबित हैं.

Sport House

अब जेपीएससी एग्जामिनेशन कैलेंडर जारी कर छह माह में तीन सिविल सेवा परीक्षाएं एक साथ लेने का दावा कर रहा है.

इसे भी पढ़ें – #ViralVideo: मुख्यमंत्री जोहार जनआशीर्वाद यात्रा में क्या नहीं जुट रही भीड़, महिलाओं को साड़ी का लालच देकर बुलाया!

कैसे संभव होंगी तीन परीक्षाएं एक साथ

जेपीएससी ने अपने एग्जामिनेशन कैलेंडर में दावा किया है कि वह 7वीं, 8वीं और 9वीं सिविल सेवा परीक्षा एक साथ आयोजित करेगा.

Mayfair 2-1-2020

कैलेंडर के मुताबिक 12 जनवरी 2020 को पीटी ली जायेगी. इसके बाद मुख्य परीक्षा 21 से 24 मार्च 2020 तक चलेगी. इसमें सफल उम्मीदवारों का साक्षात्कार 15 से 30 जून 2020 तक चलेगा.

परीक्षा विशेषज्ञों की मानें तो राज्य के बेरोजगारों के साथ इससे बड़ा मजाक कुछ नहीं हो सकता है. जब यूपीएससी को एक सिविल सेवा परीक्षा पूरा करने में एक साल लग जाता है.

चार साल से अटकी पड़ी है छठी सिविल सेवा परीक्षा

6 माह में 3 सिविल सेवा परीक्षा का दावा करनेवाली जेपीएससी बीते चार साल से 6ठी सिविल सेवा परीक्षा में ही अटकी पड़ी है.

Related Posts

#Ranchi_University के डॉ ब्रजेश कुमार महात्मा गांधी केंद्रीय यूनिवर्सिटी के एग्जिक्यूटिव मेंबर बनाये गये

बिहार की डॉ किरण घई सिन्हा भी बनीं मेंबर, यूनिवर्सिटी के प्रथम कोर्ट ने लिया निर्णय, नौ एग्जिक्यूटिव मेंबर में से दो का चयन किया प्रथम कोर्ट ने, सात का चयन करेंगे राष्ट्रपति

326 पदों पर बहाली के लिए छठी जेपीएससी सिविल सेवा परीक्षा ली गयी थी. इसके लिए वर्ष 2015 में छठी जेपीएससी परीक्षा के लिए विज्ञापन निकाला गया था.

वर्ष 2016 में प्रारंभिक परीक्षा ली गयी थी. 23 फरवरी 2017 को पीटी का रिजल्ट जारी किया गया. इसके बाद यहीं से विवाद शुरू हुआ.

कोर्ट में मामला जाने के बाद 11 अगस्त 2017 में पहली बार संशोधित रिजल्ट प्रकाशित किया गया. इसके बाद फिर 6 अगस्त 2018 को दूसरा संशोधित रिजल्ट जारी किया गया.

दो बार संशोधित रिजल्ट प्रकाशन के बाद 34634 उम्मीदवारों ने फरवरी 2019 में मुख्य परीक्षा दी.

इसे भी पढ़ें – #BJP: क्या भीतरघात से बच पायेंगे भाजपा में शामिल हुए विपक्ष के पांचों विधायक, मामला बड़ा नजदीकी है!

पांच माह में होंगी 17 तरह की परीक्षाएं

जेपीएससी ने अपने एग्जामिनेशन कैलेंडर में दावा किया है वह नवंबर 2019 से मार्च 2020 के बीच 17 विभिन्न तरह की परीक्षाएं ले लेगा. जिसमें सीमित व बैकलॉग की तीन परीक्षाएं हैं.

इसके अलावा कई ऐसे पद हैं, जिनके लिए पहली बार नियुक्ति प्रक्रिया शुरू की जायेगी. पांच महीने में जेपीएससी जिन पदों के लिए परीक्षा लेगा, उसमें बैकलॉग सिविल सेवा, पहली, पांचवीं व छठी उप समाहर्ता की सीमित परीक्षा, सिविल जज, असिस्टेंट पब्लिक प्रोसिक्यूटर, जिला खेल पदाधिकारी, असिस्टेंट डाइरेक्टर/सब डिविजनल एग्रीकल्चर ऑफिसर, साइंटिफिक ऑफिसर, केमिस्ट व जियोलॉजिस्ट, असिस्टेंट इंजीनियर, अकाउंट ऑफिसर, असिस्टेंट पब्लिक हेल्थ ऑफिसर, मेडिकल कॉलेजों में असिस्टेंट प्रोफसर व सातवीं, आठवीं व नौवीं सिविल सेवा परीक्षा शामिल है.

इसे भी पढ़ें – #Minor से मारपीट मामले में फरार बड़कागांव बीडीओ व उनकी पत्नी की गिरफ्तारी को लेकर सड़क पर उतरे लोग

SP Deoghar

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like