न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

वित्त मंत्रालय की प्रेस कॉन्फ्रेंस में  पत्रकार नहीं पूछ सकते सवाल,  ईमेल कर पूछ सकते हैं सवाल

पत्रकारों को मंत्रालय आने से पहले अपॉइंटमेंट लेना होगा.

107

NewDelhi : वित्त मंत्रालय की प्रेस कॉन्फ्रेंस में अब पत्रकार सवाल नहीं पूछ पायेगे. उन्हें अब अपने सवाल ईमेल करने होंगे.   पत्रकारों के लिए यह नया नियम बनाया गया  है.  जान लें कि वित्त मंत्रालय के  वरिष्ठ अधिकारियों की प्रेस कॉन्फ्रेंस कवर करने के लिए शुक्रवार को पत्रकारों को आमंत्रित किया गया था.

मंत्रालय की ओर से अचानक कॉन्फ्रेंस की खबर मिलते पर पत्रकारों को  हैरानी हुई कि  क्योंकि हाल ही में मंत्रालय में पत्रकारों के प्रवेश पर रोक लगा दी गयी है. कहा गया था कि पत्रकारों को मंत्रालय आने से पहले अपॉइंटमेंट लेना होगा.  ऐसा पांच जुलाई को जारी हुए आम बजट के बाद किया गया है.  प्रेस कॉन्फ्रेंस की खबर मिलते ही अधिकारियों से बातचीत के लिए पत्रकार राष्ट्रीय मीडिया सेंटर पहुंचे.

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार मीडिया से बात करने के लिए  मंत्रालय के तीन वरिष्ठ अधिकारी और मुख्य आर्थिक सलाहकार उपस्थित थे.  यहां पत्रकारो से कहा गया कि वित्त मंत्रालय से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर हर गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की जायेगी.  इस क्रम में  प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन करने वाले प्रवक्ता ने पत्रकारों से  कहा  कि अधिकारी बयान को पढ़ेंगे और किसी भी सवाल का जवाब नहीं देंगे.

Related Posts

#RahulGandhi ने हरियाणा में कहा, #Modi अडानी और अंबानी के लाउडस्पीकर हैं

राहुल ने यह दावा भी किया कि अगर अर्थव्यवस्था और बेरोजगारी की यही स्थिति बनी रही तो अगले कुछ महीनों में पूरा देश मोदी के खिलाफ खड़ा हो जायेगा.

WH MART 1

कहा गया कि अगर पत्रकार उनसे कुछ सवाल पूछना चाहते हैं तो इसके लिए उन्हें मंत्रालय को ईमेल करना होगा.  पत्रकारों से यह भी कहा गया कि अधिकारी सवाल उठाने पर विचार कर सकते हैं.  इस दौरान प्रेस कॉन्फ्रेंस कैसे आगे बढ़ती है, इसके आधार पर ही टेलीविजन कैमरों को भी अनुमति दी जा सकती है.

इन नये नियम के कारण इस सामान्य प्रेस कॉन्फ्रेंस में भी पत्रकारों को सवालों के जवाब लेने में परेशानी का सामना करना पड़ा.  यहां हुई संक्षिप्त चर्चा के बाद मुख्य आर्थिक सलाहकार फोन करने के लिए कमरे से बाहर निकल गये.  जबकि अधिकारी उनसे निर्देश मिलने के इंतजार में बैठे रहे कि पत्रकारों के सवालों का जवाब देना है या नहीं.  कुछ समय तक इंतजार करने के बाद अधिकतर पत्रकार यहां से जा चुके थे, जिसके बाद मजह दो पत्रकारों की मौजूदगी में अधिकारियों ने बयान पढ़ा.

इसे भी पढ़ेंःरिजर्व बैंक के बैलेंस शीट में सरकार का दखल अच्छा नहीं: सुब्बाराव

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like