न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पत्रकार खशोगी की लाश तेजाब से जलाई गयी, फिर नाली में फेंक दी गयी : daily Sabah 

daily Sabah का दावा है कि दो अक्टूबर को खशोगी इस्तांबुल के दूतावास से रहस्यमय तरीके से गायब हो गये. उन्हें आखिरी बार दूतावास में जाते हुए देखा गया था.

33

Riyadh : सऊदी अरब के पत्रकार जमाल खशोगी की मौत के मामले में नया मोड़ आ गया है.  तुर्की अखबार daily Sabah के अनुसार खशोगी की हत्या करने के बाद हत्यारों ने उनकी लाश तेजाब से जला कर नाली में फेंक दी थी. खबरों के अनुसार इस्तांबुल में सऊदी दूतावास के पास एक नाली से लिये गये सैंपलों पर तेजाब के थक्के मिले हैं. जिसके आधार पर अखबार ने ये दावा किया है. बता दें कि सऊदी अरब के सरकारी अखबार daily Sabah ने सूत्रों के हवाले से शनिवार को एक रिपोर्ट छापी है. जिसमें दावा किया गया है कि खशोगी की हत्या की गयी,  फिर उनकी लाश इस्तांबुल में सऊदी दूतावास के पास तेजाब से जलायी गयी और नाली में बहा दी गयी, ताकि सबूत का नामेानिशान न रहे. daily Sabah का दावा है कि दो अक्टूबर को खशोगी इस्तांबुल के दूतावास से रहस्यमय तरीके से गायब हो गये. उन्हें आखिरी बार दूतावास में जाते हुए देखा गया था.

इसे भी पढ़ें : मोदी बड़े नेता, पर 2019 में 2014 जैसी लहर मुमकिन नहीं, डिजिटल प्लेटफॉर्म का रोल अहम : प्रशांत  

एक वीडियो के सामने आने के बाद सऊदी सरकार चारों ओर से घिर गयी

खबरों के अनुसार वे वहां अपनी शादी के लिए कुछ डॉक्यूमेंट्स लेने गये थे. अभी तक पुलिस को उनकी लाश नहीं मिल पायी है. पूर्व में इनकार के बाद आखिरकार बीते दिनों सऊदी सरकार ने स्वीकार किया था कि 59 साल के खशोगी की हत्या कर दी गयी है. कहा गयाकि खशोगी ने जैसे ही इस्तांबुल के दूतावास में प्रवेश किया उनकी गला घोंटकर हत्या कर दी गयी. हालांकि  इससे पूर्व सऊदी सरकार ने दावा किया था कि दो अक्टूबर को खशोगी इस़्तांनबुल दूतावास आये थे, लेकिन वे वहां से बिना किसी रोक-टोक चले गये थे. लेकिन इसके बाद एक वीडियो के सामने आने के बाद सऊदी सरकार चारों ओर से घिर गयी. तुर्की लॉ इन्फोर्समेंट के वीडियो में मृत पत्रकार खशोगी की कद काठी का एक व्यक्ति कैद हुआ. इस वीडियो से पुख्ता हुआ कि सऊदी अरब ने इस्तांबुल स्थित अपने दूतावास में पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या के बाद उसे छिपाने की कोशिश की. इसके लिए उन्होंने खशोगी के बॉडी डबल यानी उनकी ही कद काठी और उनके ही जैसे दिखने वाले व्यक्ति का सहारा लिया.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: