न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पत्रकार चंदन तिवारी की हत्या का आरोपी था जेल में बंद , पर बेलहर सरस्वती वाहिनी प्रबंधन समिति का संचालित कर रहा था बैंक अकाउंट!

पत्थलगडा में 29 अक्टूबर 2019 को हुए चर्चित पत्रकार चंदन तिवारी हत्याकांड का अभियुक्त मुसाफिर राणा जेल में रहते हुए प्रबंधन समिति का खाता संचालन कर रहा था.

31

Chatra :   पत्थलगडा में 29 अक्टूबर 2019 को हुए चर्चित पत्रकार चंदन तिवारी हत्याकांड का अभियुक्त मुसाफिर राणा जेल में रहते हुए प्रबंधन समिति का खाता संचालन कर रहा था.  इस दौरान बेरोकटोक बैंक से निकासी हो रही थी और विद्यालय में निर्बाध मध्याह्न योजना का संचालन हो रहा था. बता दें कि पत्थलगडा प्रखंड के उत्क्रमित मध्य विद्यालय बेलहर सरस्वती वाहिनी संचालन समिति व प्रबंधन समिति का अध्यक्ष मुसाफिर राणा है. वह पत्रकार चंदन तिवारी हत्या कांड का अभियुक्त है.

इसे भी पढ़ेंःमॉब लिंचिंगः एकरा मस्जिद के सामने घटी घटना के मामले में सरकार की ओर से जवाब नहीं दिये जाने पर हाइकोर्ट ने जतायी कड़ी नाराजगी

आरोपी जेल में रहने के दौरान भी बना रहा विद्यालय का अध्यक्ष

पत्रकार चंदन तिवारी हत्याकांड के मामले में मुसाफिर राणा कई माह तक जेल में रहा.इस दौरान विद्यालय में वह अध्यक्ष रहा और उसके नाम से खाता में लेनदेन भी हुआ है.एक हत्या के आरोपी के जेल में रहते हुए विद्यालय का काम बिना किसी तरह के रोक टोक हुआ यह सवाल के घेरे में है. सबसे बड़ा सवाल कि हत्या के आरोपी ने जेल में रहते हुए खाता का संचालन कैसे किया ? सरस्वती वाहिनी समिति के खाते से किसके हस्ताक्षर से निकासी हुई? शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने एक हत्यारोपी को कैसे समिति का अध्यक्ष बनाये रखा?  जानकारी के अनुतार जेल से बाहर निकलते ही मुसाफिर राणा गवाहों को धमका रहा है.

पुलिस कार्रवाई क्यों नहीं कर रही है? जबकि चंदन तिवारी के पिता ने गवाहों को धमकाने का आरोप लगा चुके हैं. किसकी शह पर मुसाफिर राणा ने फिर से बरवाडीह पंचायत कार्यालय व प्रखंड कार्यालय जाकर फिर से ठेकेदारी शुरू कर दी है?  मुसाफिर राणा   पत्थलगडा प्रखंड कार्यालय में मनरेगा सेल में जाकर योजनाओं का मास्टर रोल जमा करा रहा है.

SMILE

पत्रकार चंदन तिवारी हत्याकांड का अभियुक्त है मुसाफिर राणा

29 अक्टूबर 2018 को झारखंड के चतरा जिले में एक हिंदी दैनिक के पत्रकार चंदन तिवारी की पीट–पीटकर हत्या कर दी गयी थी. आरोप है कि चंदन तिवारी को जबरन शराब पिलाने के बाद पिंटू सिंह व उसके दो दोस्तों जमुना प्रसाद और मुसाफिर राणा ने बाइक पर बिठाकर अपहरण कर लिया. उसके बाद उनकी निर्ममता से पिटाई करते हुए सिमरिया थाना क्षेत्र के बलथरवा जंगल में छोड़ दिया था.अत्यधिक चोट होने के कारण चंदन की मौत हो गयी थी.

इसे भी पढ़ेंःमॉब लिंचिंग: हाइकोर्ट में गलत तथ्य देकर राज्य सरकार ने मामला कराया बंद

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: