Koderma

कोडरमा में देशव्यापी विरोध दिवस को लेकर संयुक्त ट्रेड यूनियन ने दिया धरना

Koderma: संयुक्त ट्रेड यूनियन मंत्र कोडरमा के तत्वावधान में शुक्रवार को देशव्यापी विरोध दिवस के माध्यम से उपायुक्त के द्वारा राष्ट्रपति को 31 सूत्री स्मार पत्र सौंपा गया. स्मार पत्र सौंपने के पूर्व कर्मा मेडिकल कॉलेज के परिसर में सीटू, एआईटूआईसी, एआईसीसीटीयू, आईएनटीयूसी ने एक दिवसीय धरना दिया. धरना की अध्यक्षता मजदूर नेता विनोद पासवान ने जबकि संचालन संयुक्त ट्रेड यूनियन मंच के संयोजक रमेश प्रजापति ने किया. धरना में चार श्रम संहिताओं लेबर कोड को रद्द करने, सार्वजनिक उपक्रमों और सार्वजनिक सेवाओं का निजीकरण बंद करने, राष्ट्रीय मुद्रीकरण पाइप लाइन एनएमपी रद्द करने, सभी कामगारों को न्यूनतम मजदूरी 26 हजार प्रति माह सुनिश्चित करने, सभी सेवानिवृत्त कर्मचारियों को न्यूनतम पेंशन 10 हजार सुनिश्चित करने सभी सर्वकालिक कार्यों का ठेकेदारी करण बंद करने, अग्निपथ जैसी सभी योजनाएं रद्द करने एनपीएस को रद्द कर पुरानी पेंशन स्कीम लागू करने आदि सवालों को लेकर धरना दिया गया.

इसे भी पढ़ें:बाघमारा विधायक ढुल्लू महतो की गवाही 19 दिसंबर से होगी शुरू

धरना को संबोधित करते हुए सीपीआई जिला मंत्री प्रकाश रजक ने कहा कि जब से मोदी सरकार सत्ता में आई है मजदूर किसान नौजवान महिलाएं छात्र-छात्राएं सुरक्षित नहीं है. नौजवान एवं देश की बच्चियों अपने अधिकार को लेकर सड़क पर आते हैं तो उन पर डंडा बरसाई जाती है. धरना को मजदूर नेता विजय पासवान, पूर्व उप प्रमुख वीरेंद्र यादव, मजदूर नेता अनिल जाधव, भोला दास, रंजीत भारती, सीपीआई अंचल मंत्री रामेश्वर यादव, रामचंद्र राम, अशोक रजक, पार्वती देवी, जितेंद्र रविदास, महेश पासवान, महेंद्र तुरी आदि लोगों ने संबोधित किया. धन्यवाद ज्ञापन मजदूर नेता दशरथ पासवान ने किया.

Related Articles

Back to top button