Education & CareerJamshedpurJharkhand

JOB FAIR EVENT: नौकरी की तलाश में हैं तो यह मौका नहीं चूकें, टाटा स्टील फाउंडेशन-सीआईआई मॉडल करियर सेंटर जमशेदपुर में जॉब फेयर इवेंट में जरूर पहुंचे

Jamshedpur : टाटा स्टील फाउंडेशन (टीएसएफ) ने भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) के साथ साझेदारी में जमशेदपुर में मॉडल करियर सेंटर (एमसीसी) की स्थापना की है, जिसका उद्देश्य नौकरी चाहनेवालों को सही करियर विकल्प चुनने और उन्हें बेहतर प्लेसमेंट प्रदान करने के लिए मार्गदर्शन तथा परामर्श देना है.

25 फरवरी 2022 को, टाटा स्टील फाउंडेशन-सीआईआई मॉडल करियर सेंटर जमशेदपुर में पहले जॉब फेयर इवेंट की मेजबानी करने जा रहा है, जहां उद्योग के प्रतिनिधियों को एक ही मंच पर सही प्रतिभा पूल को नौकरी पर रखने का अवसर मिलेगा. इसके अलावा नौकरी चाहनेवाले सभी उम्मीदवारों के लिए उनकी प्रोफाइल बनाकर डिजिटल प्लेटफॉर्म पर वनस्टॉप करियर समाधान की पेशकश करने के लिए उसी दिन एक मोबाइल एप्लिकेशन भी लॉन्च किया जायेगा.
एमसीसी की सेवाएं सभी नौकरी चाहनेवालों के लिए
टाटा स्टील फाउंडेशन की विज्ञप्ति में कहा गया है कि यह पहल नौकरी चाहनेवालों के आला समूह को एक मंच प्रदान करेगी जो या तो अनजान हैं या अन्य पोर्टलों तक नहीं पहुंच सकते हैं. हालांकि, एमसीसी की सेवाएं सभी नौकरी चाहनेवालों के लिए खुली हैं, लेकिन इसका फोकस समाज के सामाजिक और आर्थिक रूप से वंचित वर्गों के युवाओं तक पहुंचने पर होगा. दूसरी ओर, एमसीसी कौशल की कमी को दूर करने के लिए सही प्रतिभा पूल को काम पर रखने के लिए उद्योगों को सहायता प्रदान करता है. हालांकि किसी भी अन्य उद्योगों की तरह, महामारी के कारण एमसीसी का संचालन भी प्रभावित हुआ है, लेकिन निरंतर प्रयास और कठोर प्रक्रिया के बाद एमसीसी ने पूर्वी क्षेत्र से आवश्यक कार्यबल को काम पर रखने के लिए उन्हें विभिन्न उद्योगों को जोड़ा है जैसे विनिर्माण, सेवा, आतिथ्य, खुदरा, ई-कॉमर्स आदि.
दो वर्षों में एमसीसी ने  5000 से अधिक उम्मीदवारों को जुटाया
पिछले 2 वर्षों में एमसीसी ने  5000 से अधिक उम्मीदवारों को जुटाया है, जिसमें विभिन्न योग्यताएं और कौशल हैं, जैसे- 10वीं और उससे कम पास, 12वीं पास, आईटीआई/पॉलिटेक्निक, स्नातक और स्नातकोत्तर (तकनीकी/गैर-तकनीकी) आदि. अब तक टाटा इलेक्ट्रॉनिक्स, जोमैटो, मानसी, फाइव एस डिजिटल, यस टेक्नो, यूनाइटेड इंफ्राकोर, ऑटोमेक, सोडेक्सो, वाउ मोमोज आदि संगठनों में 300 उम्मीदवारों को सफलतापूर्वक नियोजित किया जा चुका है. आनेवाले तीन वर्षों में एमसीसी का विजन 30,000 युवाओं तक पहुंच बनाना और पूर्वी क्षेत्र सहित पूरे भारत में उद्योगों की कार्यबल आवश्यकताओं की सहायता से रोजगार आधारित गतिविधियों के माध्यम से बेहतर रोजगार के अवसर पैदा करना और आजीविका बढ़ाना है.
ये भी पढ़ें- Indian Railways New Record:  दक्षिण- पूर्व रेलवे ने कबाड़ बेचकर कमाए 281.28 करोड़ रुपये, जानिए

Related Articles

Back to top button