न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#JNU_Violence: छात्रों-शिक्षकों के साथ पुलिस की बैठक, मुंबई में छात्रों का प्रदर्शन

932

NewDelhi: दिल्ली की जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी में एक बार फिर बड़ा हंगामा हुआ है. रविवार देर रात को जेएनयू कैंपस में कुछ नकाबपोश हमलावरों ने लाठी-डंडों के साथ हमला किया, जिसमें कई छात्र घायल हुए हैं.

साथ ही परिसर में संपत्ति को नुकसान पहुंचाया था जिसके बाद प्रशासन को पुलिस को बुलाना पड़ा था.

Sport House

इसे भी पढ़ेंः#JNU कैंपस में वाम और ABVP सदस्यों में हिंसक झड़प, छात्रसंघ अध्यक्ष और टीचर की पिटाई


जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में हुई हिंसा के बाद दिल्ली पुलिस के जनसम्पर्क अधिकारी (पीआरओ) एम. एस. रंधावा ने छात्रों और शिक्षकों के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ बैठक की. इधर घटना के विरोध में मुंबई के गेट-वे ऑफ इंडिया पर छात्र प्रदर्शन कर रहे हैं.

छात्रों, शिक्षकों के साथ दिल्ली पुलिस की बैठक

जेएनयू परिसर में रविवार रात उस वक्त हिंसा भड़क गयी थी जब लाठियों से लैस कुछ नकाबपोश लोगों ने छात्रों तथा शिक्षकों पर हमला कर दिया था और परिसर में संपत्ति को नुकसान पहुंचाया था जिसके बाद प्रशासन को पुलिस को बुलाना पड़ा था.

इस हमले में जेएनयू छात्र संघ की अध्यक्ष आइशी घोष सहित कम से कम 28 लोग घायल हुए हैं.

जेएनयू, जामिया और दिल्ली विश्वविद्यालय के छात्रों और शिक्षकों के एक प्रतिनिधिमंडल ने चार मांगों के साथ दिल्ली पुलिस के जनसम्पर्क अधिकारी को एक आवेदन सौंपा है. इसमें घायलों को चिकित्सीय मदद मुहैया कराना और हिंसा में शामिल लोगों की गिरफ्तारी की मांग शामिल है.

दिल्ली विश्वविद्यालय शिक्षक संघ के अध्यक्ष राजीब रे ने कहा, ‘ पुलिस ने हमें आश्वासन दिया है कि वह मामले की जांच करेगी और हमारी मांगों पर गौर करेगी.’ छात्रों ने पुलिस के जेएनयू परिसर से जाने की मांग भी की है.

इससे पहले पुलिस ने कहा था कि हिंसा के बाद अब जेएनयू में स्थिति शांतिपूर्ण है.

इसे भी पढ़ेंःलोहरदगा में #PLFI उग्रवादी संगठन के दो सदस्य गिरफ्तार, कई कांड में थी संलिप्तता

प्रत्यदर्शियों ने आरोप लगाया है कि हमलावर जेएनयू परिसर में तब घुसे जब जेएनयू शिक्षक संघ परिसर में हिंसा और छात्रों तथा प्रोफेसरों पर हमलों के मुद्दे पर बैठक कर रहे थे.

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि वे तीन हॉस्टल में भी घुसे. कुछ टीवी चैनलों पर दिखाई जा रही फुटेज में पुरुषों का एक समूह हाथ में हॉकी और लोहे की छड़ें लिए एक इमारत के पास नजर आ रहा है.

मुंबई में छात्रों का प्रदर्शन

वाम नियंत्रित जेएनयूएसयू और आरएसएस से संबद्ध एबीवीपी इस हिंसा के लिए एक-दूसरे को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं.

इस बीच, मुम्बई में विभिन्न कॉलेजों के छात्र रविवार देर रात जेएनयू में हुई हिंसा के विरोध में ‘गेटवे ऑफ इंडिया’ पर एकत्र हुए.

जेएनयू के पूर्व छात्र उमर खालिद और कुणाल कामरा समूह का हिस्सा थे, जिन्होंने जेएनयू के छात्रों के साथ एकजुटता दिखाने के लिए मोमबत्ती जलाईं.


इधर दिल्ली पुलिस ने कहा है कि मामले को लेकर जल्द एफआइआर दर्ज की जायेगी.

सेमेस्टर रजिस्ट्रेशन का विरोध कर रहे छात्र गुस्सा में आगे बढ़े,जिससे संघर्ष हुआ: JNU

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय ने रविवार रात को कहा कि सेमेस्टर रजिस्ट्रेशन का विरोधकर रहे छात्र इसका समर्थन कर रहे छात्रों को रोकने के लिए उनकी तरफ गुस्सा से आगे बढ़े जिससे दोनों के बीच संघर्ष हुआ. इस बीच रॉड और डंडे लिए ‘नकाबपोश बदमाशों ने छात्रावास के कमरों में तोड़फोड़ की.

उसने चेतावनी दी कि जो परिसर के शांतिपूर्ण शिक्षण के माहौल को बिगाड़ने की कोशिश करेगा उसे बख्शा नहीं जाएगा और दोषियों को न्याय के दायरे में लाने के लिए पुलिस में शिकायत दर्ज कराई जा रही है.

इसे भी पढ़ेंः#Ranchi: चौक के नामकरण को लेकर हुए विवाद में बीजेपी नेता के घर लगायी आग, कांग्रेस नेता पर आरोप

SP Deoghar

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like