न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

जेएनयू नारेबाजी :  कन्हैया कुमार समेत 10 के खिलाफ चार्जशीट दाखिल

41

New Delhi : जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार, सैयर उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य समेत 10 लोगों पर दिल्ली पुलिस ने पटियाला हाउस कोर्ट में चर्जशीट दाखिल कर दिया है. जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी में लगभग तीन साल पूर्व इन छात्रों द्वारा की कथित रूप से की गयी नारेबाजी की जांच पूरी होने के बाद  स्पेशल सेल कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दिया है.  चार्जशीट में जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार, सैयर उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य समेत 10 लोगों के नाम शामिल है.  टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार चार्जशीट में कश्मीरी छात्रों के भी नाम है.  इनमें आकिब हुसैन, मुजीब हुसैन, मुनीब हुसैन, उमर गुल, रईस रसूल, बशरत अली, और खलिद बशीर भट शामिल हैं. कोर्ट पुलिस के चार्जशीट पर मंगलवार को सुनवाई करेगा.

mi banner add

आइपीसी के सेक्शन- 124(A),147 और 149 और 34 के तहत चार्जशीट दाखिल

आईपीसी के सेक्शन- 124(A),147 और 149 और 34 के तहत चार्जशीट पेश किया गया. पुलिस सूत्रों के अनुसार इस मामले में सबूत के तौर पर घटना के वक़्त के कई वीडियो फुटेज, जो सीबीआई की सीएफएसएल (CFSL) में जांच के लिए भेजे गये थे और जिसके नमूने पॉजिटिव पाये गये थे.  इसके अलावा मौके पर मौजूद कई लोगों के बयान, मोबाइल फुटेज, फेसबुक पोस्ट, बैनर पोस्टर शामिल हैं. इस क्रम में जेएनयू प्रशासन, एबीवीपी के छात्र, सिक्योरिटी गार्ड, औऱ कुछ अन्य छात्र को भी इसमें गवाह बनाया गया है. रिपोर्ट्स के मुताबिक चार्जशीट करीब 1200 पेजों की है, जिसके सपॉर्ट में कुछ दूसरे दस्तावेज भी हैं.

बता दें कि नौ फरवरी 2016 में जेएनयू कैंपस में अफजल गुरु और मकबूल भट्ट के फांसी के विरोध में एक प्रोग्राम आयोजित किया गया था, जिसमें देश विरोधी नारे लगाने के आरोप हैं. पुलिस ने उस वक़्त दिल्ली के बसंत कुंज नार्थ थाने में कन्हैया कुमार, उमर खालिद, और अनिबर्न भट्टाचार्य के खिलाफ केस दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार भी किया था. बाद में इन आरोपियों को दिल्ली हाईकोर्ट से सशर्त जमानत मिली  थी. वहीं कन्हैया ने कहा, ‘तीन साल बाद चुनाव से पहले चार्जशीट फाइल करने के पीछे राजनीतिक मंशा है. मुझे देश की न्यायपालिक में आस्था है.’

Related Posts

राज्यसभा में बोले पीएम, मॉब लिंचिंग का दुख, पर पूरे झारखंड को बदनाम करना गलत

सरायकेला की घटना पर जताया दुख, कहा- न्याय हो, इसके लिए कानूनी व्यवस्था है

इसे भी पढ़ें : अखिलेश के चाचा शिवपाल सिंह बोले, सीबीआई के डर ने बना दी सपा-बसपा की जोड़ी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: