न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

JNU के टीचर-छात्रों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज, महिला पत्रकार के साथ दुर्व्यवहार

34

New Delhi : सेव जेएनयू के नारों के साथ राजधानी की सड़कों पर उतरे जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के छात्रों व शिक्षकों द्वारा कैम्पस से संसद तक निकाले जा रहे पैदल मार्च को पुलिस ने बीच रास्तें में ही रोक लिया. छात्रों के साथ हुई झड़प में पुलिस ने वॉटर कैनन और लाठीचार्ज करते हुए कई छात्रों को हिरासत में भी ले लिया. प्रदर्शनकारी जेएनयू के प्रफेसर अतुल जौहरी को बर्खास्त करने की भी मांग कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें: पहली बार हुआ ऐसा, 0.01 वोट से जीता राज्यसभा का कोई उम्मीदवार

कई मांगों को लेकर सेव जेएनयू मार्च निकाला था जेएनयू छात्रों ने

कई मांगों के साथ सेव जेएनयू मार्च कर रहे जेएनयू छात्रों और टीचर्स असोसिएशन (जेएनयूटा) को दिल्ली पुलिस ने बीच में ही रोक लिया. जेएनयू के छात्र और टीचर्स यौन उत्पीड़न, क्लास में अनिवार्य उपस्थिति और स्वायत्ता जैसे कई मामलों को लेकर यह विरोध मार्च निकाल रहे थे. शुक्रवार दोपहर दो बजे शुरू हुई पैदल मार्च यात्रा को पुलिस ने शाम पांच बजे संजय झील पर ही रोक दिया.

प्रशासन और दिल्ली पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की छात्रों ने

इस दौरान छात्रों ने यौन उत्पीडन, क्लास में अनिवार्य उपस्थिति, सीट कटौती समेत तमाम मुद्दों के लेकर प्रशासन के खिलाफ नाराजगी दर्ज करते हुए प्रशासन और दिल्ली पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. पैदल मार्च के दौरान छात्रों और तैनात पुलिस से झड़प हुई. छात्र संजय झील पर बैठकर प्रदर्शन करने लगे और छात्रों का साथ देने के लिए नेता भी प्रदर्शन स्थल पर पहुंचे.  छात्र संघ अध्यक्ष गीता का कहना है कि हम अपनी मांगों को लेकर शांति पूर्वक प्रदर्शन कर रहे थे, लेकिन दिल्ली पुलिस हमें आगे नहीं बढने दे रही है. जब तक हमें आगे जाने नहीं दिया जाएगा, तब तक हम यहीं पर बैठे रहेंगे.

sdasddasdf

 

छात्रों को रोकने के लिए पानी की बौछार और आंसू गैस का प्रयोग किया पुलिस

प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए संजय झील पर बड़े पैमाने पर सुरक्षा बल और पुलिसकर्मी तैनात किये गये है. ऐसे में छात्रों ने बैरेकेटिंग तोडनी की कोशिश की. छात्रों को रोकने के लिए पुलिस ने पानी की बौछार और आंसू गैस का प्रयोग किया. इस दौरान जब छात्र नहीं रुक रहे थे, तब पुलिस ने छात्र और शिक्षक पर लाठीचार्ज की. प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए 22 छात्रों और एक प्रोफेसर को हिरासत में लिया गया. पुलिस ने हिरासत में लिए छात्रों को अलग-अलग थाने लेकर गई है. 

इसे भी पढ़ें: राज्यसभा का रण बराबरी पर रुका : बीजेपी के समीर उरांव और कांग्रेस के धीरज साहू जीते

महिला पत्रवार ने दर्ज करायी शिकायत

इसी बीच प्रदर्शनकारी छात्रों ने दावा किया कि पुलिस ने बिना किसी उकसावे के उन पर हमला किया. एक महिला पत्रकार ने आरोप लगाया कि वर्दी वाले एक व्यक्ति ने उसे ‘‘पकड़ा’’ और वहां से जाने को कहा. महिला पत्रकार ने बताया कि ऐसा करने वाला दिल्ली पुलिस में निरीक्षक है. पत्रकार ने इस बाबत पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई है. शिकायत सरोजनी नगर थाने में दर्ज करायी गयी है. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि वे मामले पर गौर कर रहे हैं और वीडियो फुटेज को खंगालेंगे. 

fgfggfdg

 

 न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: