न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

महागठबंधन बनाने का पक्षधर है जेएमएम, इस माह के अंत तक हो सीटों का बंटवारा: हेमंत सोरेन

278

Ranchi : जेएमएम के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने कहा है कि मौजूदा स्थिति में महागठबंधन का होना जरूरी है. आगामी विधानसभा चुनाव में जेएमएम महागठबंधन बनाने का पक्षधर है. हालांकि हेमंत सोरेन ने महागठबंधन के सहयोगी दलों को इस बात का भी संदेश दे दिया कि उस चुनाव में जेएमएम सबसे अधिक सीटों पर चुनाव लड़ेगा.

इसे भी पढ़ें – जमीन दलाल की फॉर्चूनर, पूर्व ट्रैफिक SP संजय रंजन, सिमडेगा SP और पूर्व DGP डीके पांडेय का क्या है कनेक्शन !

उन्होंने इस माह के अंत तक सभी दलों को आपस में बैठ कर सीट बंटवारे पर भी बात करने की बात कही. हेमंत ने यह बातें पार्टी अध्यक्ष शिबू सोरेन के आवास पर सोमवार को आयोजित पार्टी कार्यकारिणी समिति की एक दिवसीय बैठक के बाद प्रेस कांफ्रेस के दौरान कहीं.

उन्होंने विधानसभा चुनाव में पार्टी के समक्ष आनेवाली चुनौतियों पर भी कार्यकर्ताओं को विशेष रणनीति बनाने की दिशा में काम करने का निर्देश दिया. उन्होंने कहा कि जेएमएम विधानसभा चुनाव में उन सभी पार्टियों के साथ चलने को इच्छुक है, जो पार्टी की विचारधारा के साथ समानता रखती हों. ऐसी विचारधारा वाली पार्टियों के साथ जेएमएम जल्द ही एक बैठक आयोजित करेगा. इस दौरान उन्होंने आगामी 15 और 16 मई को दुमका में पार्टी केंद्रीय समिति की बैठक आयोजित करने की भी बात कही.

वाम दलों को शामिल करने की कही बात

हेमंत सोरेन ने कहा कि लोकसभा चुनाव के पहले महागठबंधन के सभी नेताओं के बीच सहमति बनी थी कि लोकसभा चुनाव कांग्रेस और विधानसभा चुनाव जेएमएम के नेतृत्व में लड़ा जायेगा. इसी फार्मूले के अनुरूप ही जेएमएम विधानसभा चुनाव में सीट बंटवारे के फार्मूले पर काम करेगा.

लोकसभा में कांग्रेस महागठबंधन में बड़े भाई की भूमिका में थी. तय फार्मूले के तहत विधानसभा चुनाव में जेएमएम बड़े भाई की भूमिका में रहेगा. जाहिर है कि ऐसे में जेएमएम अधिक सीटों पर चुनाव लड़ेगा. इस दौरान हेमंत ने वाम दलों को भी महागठबंधन में शामिल करने की बात कही.

इसे भी पढ़ें – वायुसेना का  एएन-32 विमान असम के जोरहाट से लापता, सुखोई 30 और सी 130 तलाश में जुटे

पहले भी संक्रमण के दौरे से गुजरा है जेएमएम

लोकसभा चुनाव में केवल 1 सीट पर जीत दर्ज करने और दुमका से गुरुजी के चुनाव हारने से कार्यकर्ताओं में निराशा के सवाल पर हेमंत सोरेन ने कहा कि पहले भी कई चुनाव में पार्टी हारी है. कई बार वह संक्रमण के दौर से गुजरी है, लेकिन उस समय भी पार्टी ने अपना वजूद बनाये रखा. यही कारण है कि आज राज्य की दूसरी सबसे बड़ी पार्टी जेएमएम है. इसी ताकत के साथ पार्टी कार्यकर्ता विधानसभा चुनाव पूरे तत्परता से लड़ेंगे. कार्यकर्ताओं का मुख्य उद्देश्य होगा “प्रवासी मुख्यमंत्री भगाओ और झारखंड बचाओ”.

इसे भी पढ़ें – मंत्री सरयू राय ने लिखा पत्र, कहा- पर्यावरण के मुद्दों को लेकर तत्पर नहीं है वन विभाग

सरकार की नीतियों से जनता को रू-ब-रू करायेगा जेएमएम

मौजूद समय में राज्य में हो रहे जलसंकट और बिजली की गंभीर स्थिति को लेकर भी हेमंत सोरेन ने बीजेपी पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि वह दिन दूर नहीं, जब पानी को लेकर लोगों के बीच आपसी रंजिश होगी. लेकिन राज्य सरकार इस तरफ तनिक भी गंभीर नहीं है.

जीर्णोद्धार के नाम पर रघुवर सरकार शहर के सभी तालाबों को सुखाना चाहती है. ऐसे तालाबों पर भू-माफियाओं की भी नजर है. इसका नतीजा है कि आज जलसंकट की स्थिति बनती जा रही है. वहीं 24 घंटे बिजली देने के रघुवर सरकार की घोषणा पर भी तंज कसते हुए हेमंत सोरेन ने कहा कि ऐसी ही बयानबाजी कर रघुवर सरकार ने पिछले पांच वर्षों में लोगों को ठगने का काम किया है. सरकार की इसी नीतियों के खिलाफ जेएमएम जनता के बीच जायेगी और लोगों को वास्तविकता से रू-ब-रू करायेगी.

इसे भी पढ़ें – गढ़वा में नाबालिग से दुष्कर्म, पलामू में युवती की गला दबाकर हत्या, दुष्कर्म का आरोपी गिरफ्तार

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्या आपको लगता है हम स्वतंत्र और निष्पक्ष पत्रकारिता कर रहे हैं. अगर हां, तो इसे बचाने के लिए हमें आर्थिक मदद करें.
आप अखबारों को हर दिन 5 रूपये देते हैं. टीवी न्यूज के पैसे देते हैं. हमें हर दिन 1 रूपये और महीने में 30 रूपये देकर हमारी मदद करें.
मदद करने के लिए यहां क्लिक करें.-

you're currently offline

%d bloggers like this: