lok sabha election 2019

जेएमएम ने पत्र लिख दो वरीय पुलिस अधिकारियों को चुनाव कार्य से हटाने की मांग की 

Ranchi: जेएमएम ने राज्य के दो वरीय पुलिस अधिकारियों को चुनाव कार्य से दूर रखने के लिए केंद्रीय चुनाव आयोग को एक लिखा है. यह शिकायत मुख्य रूप से राज्य के पुलिस महानिदेशक डीकेपाण्डेय व अन्य के खिलाफ की गयी है. जानकारी देते हुए पार्टी के प्रवक्ता सह जेएमएम महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि भयमुक्त और निष्पक्ष चुनाव सम्पन्न करवाने के लिए तय आदर्श संहिता में स्पष्ट उल्लेखित है कि तीन वर्ष या उसके अधिक समय तक पदस्थापित किसी भी प्रशासनिक और पुलिस पदाधिकारियों का स्थानान्तरण चुनाव पूर्व सुनिश्चित किया जाए. लेकिन अभी तक दोनों पदाधिकारी चुनाव कार्य में शामिल दिख रहे हैं.

इसे भी पढ़ें – पिठौरिया में वाहन चेकिंग के दौरान,फॉर्च्यूनर कार से 30 लाख रुपये बरामद

चार वर्षों से अधिक समय पद पर कार्यरत हैं अधिकारी

यह शिकायत पुलिस महानिदेशक डीकेपाण्डेय और अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (विशेष शाखा) अनुराग गुप्ता के खिलाफ की गयी है. सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि दोनों पदाधिकारी राज्य के सत्तारूढ़ भाजपा के न केवल समर्थक रहे हैं, बल्कि इनका आचरण भी भाजपा के सक्रिय कार्यकर्ता के रूप में रहा है. 2016 के राज्यसभा चुनाव के दौरान भी उपरोक्त दोनों अधिकारियों के आचरण पर संझान लेते हुए आयोग ने सरकार ने स्पष्ट निर्देश दिया था. लेकिन राज्य सरकार ने इन निर्देशों का पालन नहीं किया. वर्तमान में दोनों अधिकारी चार वर्षों से ज्यादा समय तक अपने पद पर कार्यरत हैं.

advt

इसे भी पढ़ें – गिरिडीह : वाहन चेकिंग के दौरान एसयूवी से 15 लाख रुपये बरामद

भयमुक्त एवं निष्पक्ष चुनाव के लिए हों विरमित

पार्टी प्रवक्ता ने कहा कि पुलिस महानिदेशक राज्य के पुलिस विभाग का मुखिया होता है. अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (विशेष शाखा) पुलिस विभाग का अत्यंत महत्वपूर्ण अंग होता है. ये दोनों पुलिस पदाधिकारी प्रत्यक्ष तौर पर निर्वाचन संपन्न कराने की भूमिका में रहते हैं. ऐसे में जेएमएम ने मांग की है कि आयोग विषय की गंभीरता को देखते हुए पूरे मामले पर अविलंब हस्तक्षेप करें और दोनों पदाधिकारियों को उनके दायित्व से विरमित कर इन पदों पर निष्पक्ष पदाधिकारियों को पदस्थापित करें ताकि राज्य में लोकसभा का निर्वाचन भयमुक्त एवं निष्पक्ष तरीके से संपन्न हो सके.

adv

इसे भी पढ़ें – ब्याज के पैसे नहीं दे पा रहा था पिता तो कर्ज देनेवाला 14 साल की बेटी को जबरन ले गया दिल्ली, पुलिस ने छुड़ाया

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: