BokaroJharkhand

टीटीपीएस अस्पताल खोलने को जेएमएम ने माना आचार संहिता का उल्लंघन, पत्र लिख की शिकायत

Ranchi: राज्य सरकार के प्रतिष्ठान तेनुघाट विद्युत निगम लिमिटेड (टीटीपीसी) में हो रहे कई तरह के कार्यों को जेएमएम ने आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन माना है. इस संदर्भ में पार्टी ने केंद्रीय निर्वाचन आयोग को एक पत्र लिखकर यहां हो रहे कार्यों की समीक्षा करते हुए मामले की जांच और जिम्मेदार पदाधिकारियों पर आपराधिक मुकदमा दर्ज कराने की मांग की है. पत्र की एक प्रतिलिपि पार्टी ने राज्य निर्वाचन पदाधिकारी और गिरिडीह लोकसभा क्षेत्र के निर्वाचन पदाधिकारी को भी सौंपा है. टीटीपीएस में दो साल से बंद पड़े अस्पताल को खोलने के लिए एक लोकार्पण कार्यक्रम का आयोजन किया था, जिसे जेएमएम आचार संहिता का उल्लंघन मान रहा है.

इसे भी पढ़ें – धनबाद :  आरटीई नियमों की अनदेखी कर निजी स्कूलों में लिया जा रहा एडमिशन

अधिकारियों के बीच कार्यों का आवंटन

पार्टी महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने शुक्रवार को एक प्रेस रिलीज जारी कर बताया कि लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर पूरे राज्य में चुनावी आदर्श आचार संहिता लागू है. इस दौरान प्रतिष्ठान में सरकार द्वारा कुछ ऐसे कार्यों को अंजाम दिया जा रहा है, जो संहिता का उल्लंघन करता है. यहां तक की इन कार्यों के आलोक में टीटीपीसी के प्रबंध निदेशक अरविंद कुमार सिन्हा के आदेश पर कार्यालय आदेश जारी कर कई अधिकारियों को कार्यों का आवंटन भी कर दिया गया.

Sanjeevani

पार्टी के मुताबिक टीटीपीसी में निम्न कार्यों को अंजाम दिया गया है

  • गत 22 अप्रैल को आदेश संख्या 2/19-20 के माध्यम से टीटीपीएस के अस्पताल का प्रबंधन एक निजी अस्पताल को सौंपने संबंधी आदेश जारी किया गया. इस कार्य हेतु एजेंसी का चयन भी मनमाने तरीके से हुआ. लेकिन इसकी कोई प्रकिया नहीं अपनायी गई, न ही इसके लिए कोई आवश्यक अनुमति ही ली गयी.
  • उक्त अस्पताल का उद्घाटन गत 2 मई को किया गया, जिसमें विभिन्न राजनेताओं को भी शामिल कराया गया. इसके लिए भी कोई अनुमति नहीं ली गयी.
  • गत 30 अप्रैल को टीटीपीएस द्वारा स्थानांतरण एवं पदस्थापन संबंधी कार्यालय आदेश 27/9-20 जारी किया गया, जिसके लिए भी कोई अऩुमति नहीं लगी गयी.

इसे भी पढ़ें – जैक छात्रों के लिए खुशखबरी, छात्रों को मिलेंगे अच्छे नंबर,  इसी माह आ जायेगा इंटर और मैट्रि‍क का रिजल्ट

Related Articles

Back to top button