न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पीएम के दौरे पर जेएमएम ने की टिप्पणी, कहा “पार्टी की चेतावनी से डर देवघर की ओर पलायन”

गुरुजी पर लगाये आरोप पर पलटवार, क्यों नहीं लीगल जांच कराते सीएम

1,637
  • सीएम ने कहा था कि कोल घोटाले में फंसने के बाद शिबू सोरेन से छीना गया था कोयला मंत्रालय

Ranchi:   जेएमएम सुप्रीमो शिबू सोरेन पर सीएम रघुवर दास के कोल घोटाला से लगाये आरोप और पीएम के देवघर दौरे को लेकर पार्टी ने बीजेपी पर हमला बोला है. सीएम के आरोप को झूठा और बेबुनियाद बताते हुए पार्टी नेता और पूर्व राज्यसभा सांसद संजीव कुमार ने दावा कर कहा कि गुरुजी जी कोल घोटाले में कभी भी आरोपी नहीं रहे हैं.

न ही इस घोटाले में वे कभी गिरफ्तार हुए हैं. सीएम या तो जानबूझ कर यह बयानबाजी करते हैं, या चुनावी माहौल पर ऐसा कर वे संथाल की जनता को बरगलाने का काम कर रहे है.

अगर उन्हें लगता है तो वे किसी भी कानूनी प्रक्रिया से इसकी जांच करवा लें. पीएम के दौरे पर पार्टी महासचिव सह प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा है कि देवघर दौरे में आदिवासी-मूलवासी के जमीनें नहीं छीने जाने की पीएम की घोषणा पूरी तरीके से झूठ और हास्यास्पद है.

ऐसा इसलिए क्योंकि उद्योगपति अडानी का संयंत्र जिस जमीन पर स्थापित होने जा रहा है, वह इऩ्हीं से जबरन अधिग्रहित की गयी है.

इसे भी पढ़ेंः HC ने नगर विकास विभाग को चास मेयर भोलू पासवान पर कार्रवाई करने का आदेश दिया 

गुरुजी पर व्यक्तिगत टिप्पणी सीएम को शोभा नहीं :  संजीव कुमार

पार्टी मुख्यालय में बुधवार को आयोजित प्रेस वार्ता पार्टी नेता संजीव कुमार ने सीएम के शिबू सोरेन पर किये गये हमले का बचाव किया.

कहा कि शिबू सोरेन न तो कोल घोटाले में आरोपी हैं न ही किसी और मामले में. मुख्यहमंत्री चाहें तो वे इसकी लीगल रूप से जांच करवा सकते हैं.

साथ ही कहा कि सीएम को दिशोम गुरु शिबू सोरेन पर व्यक्तिगत टिप्पणी करना शोभा नहीं देता. उन्हों ने अपने लंबे राजनीतिक जीवन के कार्यकाल में कभी भी किसी पर व्युक्तिगत टिप्प्णी नहीं की.

इसे भी पढ़ेंः देवघर : पीएम की सुरक्षा में चूक, सभास्थल के पास गोलि‍याें के साथ पहुंचा युवक, पकड़ाया 

SMILE

चुनौती से डर पीएम ने दुमका में नहीं की सभा : सुप्रियो भट्टाचार्य

पीएम के देवघर दौरे पर टिप्पणी करते हुए पार्टी नेता सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि अडाणी के चौकीदार के लिए देवघर में मंगलवार को पीएम का आगमन हुआ.

पार्टी ने पहले ही चुनौती दी थी कि वे अपनी सभा दुमका में करें, लेकिन वे डर कर वहां चले गये, जहां विगत 10 वर्षों से उनके सांसद विकास का खोखला दावा कर कहते हैं कि इस बार भी उन्हें ही जीत मिलेगी.

सभा में पीएम के आदिवासी-मूलवासी जमीन नहीं लेने की घोषणा को सुप्रियो ने झूठा बताया.

पीएम बतायें कि अडाणी से समझौते के पीछे क्या है व्यवसायिक एवं वाणिज्यिक उद्देश्य

उन्होंने कहा कि आज गोड्डा की जिस जमीन पर अडानी के संयंत्र की बात हो रही है, उसे आदिवासियों एवं मूलवासियों से जबरन लूट कर अधिग्रहित की गयी है.

पीएम के इसी झूठ का हश्र है कि वे आदिवासी बहुल संथाल परगना के दोनों संसदीय क्षेत्र (दुमका और राजमहल) के जमीन पर पैर रखने की हिम्मत नहीं कर पाये. उनका देवघर में दिया भाषण एक परास्त योद्धा एवं थके हुए इंसान के रूप में नजर आया.

पीएम से उन्होंने यह भी स्पष्ट करने की बात कही कि अडाणी के साथ राज्य के कोयला, पानी, जमीन, श्रम का समझौता करने और गोड्डा को स्पेशल इकोनॉमिक जोन घोषित करने के पीछे बीजेपी की क्या व्यवसायिक एवं वाणिज्यिक उद्देश्य है.

इसे भी पढ़ेंः गिरिडीह : छेड़खानी और मारपीट की शिकार पीड़िता अस्पताल में, जमुआ पुलिस पर आरोपियों को संरक्षण देने का आरोप

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: