GiridihJharkhand

हेमंत सरकार को अस्थिर करने के आरोप में झामुमो ने केंद्र सरकार का पुतला फूंका

Giridih: मनरेगा घोटाला में फंसने के साथ सीएम हेमंत को खान लीज आवंटन मामले में ईडी के जांच दायरे में आई निलंबित आईएएस पूजा सिंघल मामले को लेकर गिरिडीह जेएमएम ने सोमवार को पीएम नरेंद्र मोदी का पुतला दहन किया. पुतला दहन के बहाने गिरिडीह जेएमएम ने भाजपा के खिलाफ शक्ति प्रदर्शन भी किया. 6 सौ से अधिक की संख्या में पार्टी के समर्थक झंडा बैनर लिए सड़को पर उतरे. पार्टी की महिला कार्यकर्ता भी कम नही रही. पीएम मोदी के साथ गृहमंत्री अमित शाह के खिलाफ नारेबाजी करते हुए शहर के टावर चौक में पुतला दहन किया.

Sanjeevani

MDLM

पुतला दहन कार्यक्रम का नेतृत्व जेएमएम जिला अध्यक्ष संजय सिंह कर रहे थे. मौके पर अजीत कुमार पप्पू, राकेश कुमार रॉकी, गौरव कुमार, प्रमिला मेहरा, राकेश रंजन, प्रदोष कुमार, पवन सिंह, आश्मा खातून, अंजू सोनी,  अभय सिंह, सईद अख्तर और सुमन सिन्हा समेत कई नेता और कार्यकर्ता पुतला दहन और धरना में शामिल हुए.  हेमंत सरकार को अस्थिर करने का आरोप लगाकर जेएमएम द्वारा किए गए इस विरोध प्रदर्शन में मोदी सरकार को लेकर कार्यकर्ताओं में जमकर गुस्सा दिखा.

कार्यकर्ताओं ने मोदी सरकार के खिलाफ आक्रोश जाहिर किया. पीएम मोदी के खिलाफ गिरिडीह जेएमएम के इस शक्ति प्रदर्शन और पुतला दहन कार्यक्रम के कारण शहर की ट्रैफिक व्यवस्था कुछ देर के लिए पूरी तरह से ध्वस्त हो गई. इस दौरान शहर के स्टेशन रोड से मोदी का पुतला लिए निकले और केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए पदम चौक, काली बाड़ी चौक होते हुए टावर चौक पहुंचे. जहां कार्यकर्ताओं के साथ नेताओ ने पीएम मोदी का पुतला जलाया. इस दौरान जिला अध्यक्ष संजय सिंह ने मोदी सरकार पर आरोप हुए कहा कि पूजा सिंघल और ईडी के जरिए हेमंत सरकार को अस्थिर करने का प्रयास किया जा रहा है. जबकि हेमंत सरकार एक निर्वाचित सरकार है. भाजपा लोकतंत्र का गला घोंट रही है.

इसे भी पढ़ें: पूजा सिंघल प्रकरण: अब रांची के डीएमओ ईडी ऑफिस पहुंचे, पूछताछ शुरू

Related Articles

Back to top button