JharkhandJharkhand PoliticsRanchi

झामुमो ने दो टूक कहा, सरकार में 12वें मंत्री के बर्थ पर केवल हमारा हक

Ranchi: सरकार में 12वें मंत्री के पद पर दावा करने को सत्तारुढ़ दलों में जोर आजमाइश जारी है. प्रदेश कांग्रेस इस सीट को अपने हिस्से में लेना चाह रहा है.

पर झामुमो ने इस पर केवल अपना हक बताया है. बुधवार को पार्टी के केंद्रीय प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि अगर सरकार में 12वें मंत्री पद के लिये पहल होगी तो इस पर केवल झामुमो ही दावेदार होगा.

मीडिया ने उनसे पूछा था कि सरकार में मंत्री पद का बर्थ खाली है. इस पर कांग्रेस की नजर है. इसके जवाब में उन्होंने इससे इंकार करते हुए कहा कि सरकार में मंत्री पद पर किसी को लिया जाना, विभागों का बंटवारा करने की जिम्मेदारी सीएम के हाथों में होती है. उन्हें उम्मीद है कि खाली बर्थ पर झामुमो को ही जगह मिलेगी.

advt

इसे भी पढ़ें : बिहार में पंचायत चुनाव की कवायद हुई तेज, निर्वाचन आयोग हुआ सक्रिय

दिल्ली में जुटे हैं कांग्रेसी

हेमंत सरकार में अभी मंत्री पद की एक वेकेंसी खाली है. इसके लिए कांग्रेसी लगातार अपनी बात आगे बढ़ाते रहते हैं. बीच-बीच में रह रहकर कई पार्टी नेताओं का नाम उछाला जाता है.

इनमें नमन विक्सल कोंगाड़ी, दीपिका पांडेय सिंह समेत अन्य का भी नाम सामने आता रहता है. यहां तक कि विधायक बंधु तिर्की औऱ प्रदीप यादव का भी नाम लिया जाता है. पर दोनों के दल बदल का मामला अभी विधानसभा में लंबित है.

ऐसे में पेंच फंसता दिखता है. इधर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष औऱ मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव 15 जून से दिल्ली में कैंप किये हुए हैं. वहां अभी तक उन्होंने पार्टी महासचिव के सी वेणुगोपाल और अन्य नेताओं से भी भेंट की है. राज्य सरकार के कामकाज और पार्टी के कामकाज के अलावा आगामी समय में पार्टी की ओऱ से चलाये जाने वाले विभिन्न कार्यक्रमों को लेकर भी चर्चा कर रहे हैं.

राजनीतिक गलियारे में कहा जा रहा है कि कांग्रेस के एक और विधायक को कैबिनेट में शामिल करने की चर्चा हुई है. इसके लिये संभावनाएं तलाशी जा रही हैं.

इसे भी पढ़ें : परिवहन विभाग ने ई-पास के लिए नये सिरे से जारी किया आदेश

कई अहम मंत्रालय हैं कांग्रेस के पास

गौरतलब है कि दिसंबर 2019 से राज्य में हेमंत सोरेन की सरकार है. सरकार में अभी कांग्रेस के चार मंत्री हैं जिनके जिम्मे कई अहम विभाग हैं.

इनमें रामेश्वर उऱांव के पास वित्त, खाद्य आपूर्ति मंत्रालय, आलमगीर आलम के पास ग्रामीण विकास और पंचायती राज, बादल पत्रलेख के पास कृषि, पशुपालन एवं सहकारिता और बन्ना गुप्ता के पास स्वास्थ्य मंत्रालय है.

राजद के कोटे में श्रम मंत्रालय है जिसके मंत्री सत्यानंद भोक्ता हैं. इसके अलावा झामुमो से सीएम हेमंत सोरेन के अलावा मिथिलेश ठाकुर (पेयजल एवं स्वच्छता), चंपई सोरेन (आदिवासी कल्याण, परिवहन), जोबा मांझी (समाज कल्याण), हफीजुल हसन अंसारी (खेलकूद, अल्पसंख्यक कल्याण) और जगरनाथ महतो (शिक्षा) मंत्री पद पर काबिज हैं.

इसे भी पढ़ें : बिना प्रोन्नति पाये रिटायर हो रहे हैं शिक्षक, स्कूलों में शिक्षकों-प्रधानाध्यापकों के हजारों पद रिक्त

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: