न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#J&K : संचार प्रतिबंध हटाने की मांग को लेकर 100 से ज्यादा #Journalist मूक प्रदर्शन में शामिल हुए

अंतरराष्ट्रीय, राष्ट्रीय और स्थानीय मीडिया संस्थानों में काम कर रहे 100 से ज्यादा पत्रकारों ने कश्मीर प्रेस क्लब से शुरू हुए मूक प्रदर्शन में हिस्सा लिया.

58

Srinagar :  जम्मू कश्मीर में  Article 370 के कुछ प्रावधानों को रद्द किये जाने के बाद लगाये गये संचार प्रतिबंधों को हटाने की मांग को लेकर 100 से ज्यादा पत्रकार गुरुवार को यहां मूक प्रदर्शन में शामिल हुए. पत्रकारों ने कहा कि पांच अगस्त को लगाये गये प्रतिबंध तीसरे महीने में प्रवेश करने जा रहे हैं, इससे कश्मीर में पत्रकारों का काम खासा प्रभावित हो रहा है. जान लें कि अंतरराष्ट्रीय, राष्ट्रीय और स्थानीय मीडिया संस्थानों में काम कर रहे 100 से ज्यादा पत्रकारों ने कश्मीर प्रेस क्लब से शुरू हुए मूक प्रदर्शन में हिस्सा लिया.

इसे भी पढ़ें :  #Gandhi जिंदा होते तो कश्मीर से #Article370 हटाये जाने के विरोध में निकालते मार्च  : दिग्विजय सिंह   

स्थानीय अखबार भी समुचित तरीके से छप नहीं पा रहे

Related Posts

#RahulGandhi ने हरियाणा में कहा, #Modi अडानी और अंबानी के लाउडस्पीकर हैं

राहुल ने यह दावा भी किया कि अगर अर्थव्यवस्था और बेरोजगारी की यही स्थिति बनी रही तो अगले कुछ महीनों में पूरा देश मोदी के खिलाफ खड़ा हो जायेगा.

WH MART 1

कश्मीर प्रेस क्लब के अध्यक्ष शुजा उल हल ने कहा,  संचार माध्यमों पर लगा प्रतिबंध तीसरे महीने में प्रवेश करने जा रहा है जिससे कश्मीर में पत्रकारों के कामकाज पर काफी असर हुआ है.  यहां तक कि स्थानीय अखबार भी समुचित तरीके से छप नहीं पा रहे जबकि उनका इंटरनेट संस्करण भी काम नहीं कर रहा. उन्होंने कहा कि सभी मीडिया संघ सरकार पर प्रतिबंध हटाने का दबाव बनाने के लिये साथ आये हैं,  जिससे वे अपने पेशेवर दायित्व का स्वतंत्र रूप से निर्वहन कर सकें.

हाथों में तख्तियां लिये कुछ पत्रकारों ने बाद में यहां पोलो व्यू से रेजिडेंसी रोड पर प्रेस कॉलोनी तक शांतिपूर्ण मार्च निकाला. बाद में सभी पत्रकार शांतिपूर्ण तरीके से वहां चले गये. जम्मू कश्मीर सरकार ने यहां एक निजी होटल में मीडिया सुविधा केंद्र स्थापित किया है.  हालांकि पत्रकारों का मानना है कि यहां सुविधाएं अपर्याप्त हैं और करीब 400 पत्रकारों के लिए महज 10 कंप्यूटर हैं.

इसे भी पढ़ें : पाक में #EconomicCrisis : डूबती अर्थव्यवस्था बचाने के लिए सेना ने कारोबारियों के साथ बैठक की  

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like