न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

JJMP ने 21 जुलाई के झारखंड बंद के एलान को बताया झूठा, जारी किया वीडियो

3,825

Ranchi: जेजेएमपी उग्रवादी संगठन के नाम पर 19 जुलाई को एक वीडियो जारी किया गया था. जिसमें 21 जुलाई को झारखंड बंद का एलान किया गया था. लेकिन इस वीडियों को जेजेएमपी उग्रवादी संगठन के सब जोनल कमांडर लवलेश जी ने झूठा बताया है.

एक वीडियो जारी करते हुए लवलेश जी ने कहा है कि यह जेजेएमपी संगठन के नाम पर जो झारखंड बंद का एलान किया गया है यह सब झूठा है. हमारे जेजेएमपी संगठन के द्वारा कोई बंदी का ऐलान नहीं किया गया है.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

साथ ही यह भी कहा गया कि हमारे जेजेएमपी संगठन में कोई भी शशिकांत नाम का व्यक्ति नहीं है जिसने पहले बंदी को लेकर वीडियो जारी किया था. हमारे तीन साथी विजय जी, हरदयाल जी और अरुण जी मारे गए हैं.

इसे भी पढ़ें- सरायकेलाः पांच जवानों की हत्या में शामिल चार नक्सलियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

वीडियो जारी कर किया गया था बंद का आह्वान

19 जुलाई को जेजेएमपी उग्रवादी संगठन के नाम पर वीडियो जारी कर बंद का आह्वान किया था. वीडियो में नक्सलियों के द्वारा यह कहा गया है कि मुठभेड़ में उनके तीन साथियों की पुलिस के द्वारा हत्या की गई है. इसके खिलाफ बंद किया जा रहा है.

Related Posts

इस वीडियो में जेजेएमपी के तीन नक्सली हथियार के साथ खड़े हैं, जो बंद का एलान कर रहे थे. उनका कहना था कि मुठभेड़ में उनके तीन साथियों की पुलिस के द्वारा हत्या की गई है.

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02

इसके खिलाफ 21 जुलाई को झारखंड बंद रहेगा. नक्सलियों के द्वारा यह भी कहा गया है कि बंद के दौरान प्रेस, एम्बुलेंस के साथ-साथ कांवरियों को कोई नुकसान नहीं पहुंचाया जाएगा.

इसे भी पढ़ें-सोनभद्र हत्याकांड : प्रियंका गांधी से मिले पीड़ित परिवारों के दो सदस्य

लोहरदगा में मुठभेड़ में मारे गए थे तीन उग्रवादी

लातेहार के सीमावर्ती क्षेत्र लोहरदगा जिले के पेशरार थाना अंतर्गत सहेदापाट जंगल में 18 जुलाई को दिन के करीब तीन बजे पुलिस और उग्रवादी संगठन जेजेएमपी के हथियारबंद दस्ते के साथ मुठभेड़ हुई थी.

इसमें जेजेएमपी के पप्पू लोहरा दस्ते के तीन उग्रवादियों को पुलिस ने मार गिराया. जबकि, एक अन्य उग्रवादी भी पुलिस की गोली से जख्मी हुआ है. उसे पप्पू लोहरा दस्ते के सदस्य अपने साथ लेते गए थे. मारे गए उग्रवादियों के पास से दो एके-47 भी मिले थे.

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like