Crime News

जेएमएम नेता गहन टुडू की हत्या में जेजेएमपी ने अपना हाथ होने से किया इनकार

Ramgarh: उरीमारी थाना क्षेत्र में झामुमो के केंद्रीय सदस्य सह विस्थापित मोर्चा के सचिव गहन टुडू की रविवार दोपहर करीब दो बजे अपराधियों ने गोली मार कर हत्या कर दी थी. इस मामले में जेजेएमपी उग्रवादी संगठन ने अपना हाथ होने से इनकार कर दिया.

जेजेएमपी उग्रवादी संगठन की ओर से जारी की गयी प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि गहन टुडू की हत्या में संगठन का कोई हाथ नहीं है और न ही शशिनाथ नाम का संगठन में कोई कमांडर है. शशिनाथ के नाम पर संगठन को बदनाम करने का काम किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें – JMM सह मजदूर नेता गहन टुडू की हत्या के विरोध में तीन खदानों में कोयला उत्पादन और ट्रांसपोर्टिंग ठप

हजारीबाग और रामगढ़ जिले में नहीं है जेजेएमपी संगठन

जेजेएमपी उग्रवादी संगठन की ओर से जारी की गयी प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि हजारीबाग और रामगढ़ जिले में जेजेएमपी उग्रवादी संगठन नहीं है. जिस व्यक्ति ने जेजेएमपी संगठन के नाम पर हत्या कर पर्चा छोड़ा है और शशिकांत के नाम पर बयान बाजी की है, वह गलत कर रहा है और संगठन को बदनाम कर रहा है. जेजेएमपी उग्रवादी संगठन में शशिकांत नाम का कोई व्यक्ति नहीं है.

इसे भी पढ़ें – NEWS WING STING: 70-80 हजार रुपया दो, समाज कल्याण विभाग में #JOB लो

शशिकांत ने सोशल मीडिया के माध्यम से ली थी हत्या की जिम्मेवारी

झामुमो के केंद्रीय सदस्य सह विस्थापित मोर्चा के सचिव गहन टुडू की रविवार दोपहर करीब दो बजे अपराधियों ने गोली मार कर हत्या कर दी. गोली उनकी गरदन में लगी थी. घटना के बाद आनन-फानन में गहन को मेदांता अस्पताल (रांची) ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

गहन की मौत के बाद आक्रोशित लोगों ने उरीमारी चेक पोस्ट सहित सयाल आठ नंबर, भारत भारती स्कूल, उरीमारी वर्कशॉप, पहाड़ी मंदिर पर सड़क को जाम कर दिया. लोग शव को चेक पोस्ट पर रख कर हजारीबाग के एसपी को बुलाने की मांग कर रहे थे. इस हत्याकांड की जिम्मेदारी उग्रवादी संगठन जेजेएमपी के हजारीबाग, रामगढ़ व चतरा जिला के जोनल कमांडर शशिकांत ने सोशल मीडिया के माध्यम से ली थी.

इसे भी पढ़ें – रामगढ़ : #koylanchal में अपराधी बेलगाम, #gangwar और उग्रवाद में जा रहीं जानें

Advt

Related Articles

Back to top button