न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

झासा जिला इकाई रांची की बैठक, सत्येंद्र कुमार अध्यक्ष चुने गये

2003 के बाद झारखंड प्रशासनिक सेवा के पदाधिकारियों का वरीयता क्रम का निर्धारण करने की मांग

149

Ranchi : पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार झारखंड प्रशासनिक सेवा संघ (झासा) रांची जिला इकाई की बैठक संपन्न हुई, बैठक में रांची जिला का इकाई का पुनर्गठन किया गया. जिसमें सर्वसम्मति से अध्यक्ष के पद पर सत्येंद्र कुमार अपर समाहर्ता रांची, सचिव के पद पर अखिलेश कुमार एडीएम विधि व्यवस्था ,कोषाध्यक्ष प्रकाश कुमार सदर अंचल अधिकारी रांची ,उपाध्यक्ष प्रवीण कुमार सिंह अंचल अधिकारी चान्हो एवं सीमा सिंह जिला भू अर्जन पदाधिकारी रांची चुने गये.

कार्यकारिणी में शैलेश कुमार, संजय कुमार, अतुल कुमार, राजीव सिंह, शुभ्रा कुमारी, मेरी मडकी, अजय कुमार ,अभिनव स्वरूप के साथ साथ संयुक्त सचिव में संजीव कुमार जिला परिवहन पदाधिकारी रांची एवं राजेश बरवार एडीएम नकस्ल को चुना गया.

Sport House

इसे भी पढ़ें :  विनय चौबे का सीएम का प्रधान सचिव बनना तय, कार्मिक ने सुनील बर्णवाल समेत चुनाव आयोग भेजे तीन नाम

बैठक में कई प्रस्ताव पारित किये गये

बैठक में कई प्रस्ताव पारित किये जिसमें 2003 के बाद झारखंड प्रशासनिक सेवा के पदाधिकारियों का वरीयता क्रम का निर्धारण, झारखंड प्रशासनिक सेवा के लिए कर्णअंकित पदों को संरक्षित करना तथा जो पद अन्य सेवा के लोगों को दिये गये हैं उसे वापस करना एवं अन्य राज्यों की तर्ज पर प्रशासनिक सेवा के लिए चिंहित पदों को झारखंड में भी लागू करना .

इसे भी पढ़ें : कनहर बराज प्रोजेक्ट : मुख्य सचिव का राज्यों की सीमा पर स्थित जमीन की मालिकाना स्थिति 28 फरवरी तक स्पष्ट करने का निर्देश  

Mayfair 2-1-2020

बिना विभागीय अनुमति के प्राथमिकी दर्ज नहीं करें

कहा गया कि रांची जिला में उप समाहर्ता से दूसरी सेवा के कनीय स्तर के पदाधिकारियों के द्वारा प्रखंड विकास पदाधिकारी अंचलाधिकारी से रिपोर्ट के प्रति जिला इकाई रोष व्यक्त करती है. इसके अलावा वेतन विसंगति को दूर करने के साथ- साथ महिला पदाधिकारियों के लिए चाइल्ड केयर लीव को लेकर भी प्रस्ताव पास किया गया. साथ ही प्रशासनिक सेवा के पदाधिकारियों पर बिना विभागीय अनुमति के प्राथमिकी दर्ज नहीं करने एवं  दर्ज मुकदमों को वापस करने की मांग रखी गयी.

मुख्य सचिव स्तर की बैठक की सहमति के बिन्दु लागू करने की मांग

16 जनवरी 2019 को मुख्य सचिव की अध्यक्षता में झासा के पदाधिकारियों के साथ हुई बैठक में 15 बिंदु पर लिखित सहमति बनी थी जिसका अनुपालन 1 वर्ष बीत जाने के बाद भी अभी तक नहीं हुआ है इसका अनुपालन सुनिश्चित कराने की बात बैठक में उभर कर सामने आयी. बैठक में 29 फरवरी तक आम सभा की बैठक बुलाने का निर्णय लिया गया.

इसे भी पढ़ें : हेमंत मंत्रिमंडल : ओबीसी,  एसटी और फारवर्ड कोटे से होंगे कांग्रेस के मंत्री!

SP Deoghar

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like