JharkhandRanchiSimdega

बेंगलुरु इंटरनेशनल शॉर्ट फिल्म फेस्टिवल में दिखेगी झारखंडी शॉर्ट फिल्म बांधा खेत

सिमडेगा के युवा ने नागपुरी-मुंडारी भाषा में बनायी है फिल्म

Ranchi : पुरुषोत्तम कुमार एनपीके की शॉर्ट फिल्म बांधा खेत का चयन देश के प्रतिष्ठित और बेहतरीन फिल्म फेस्टिवल बेंगलुरु इंटरनेशनल शॉर्ट फिल्म फेस्टिवल 2021 मे हो गया है. इसे क्षेत्रीय फिल्मों के लिए गौरव की बात कहा जा रहा है. यह फिल्म फेस्टिवल भारत की एकमात्र ऐसी फिल्म फेस्टिवल है जहां से फिल्मी दुनिया के सबसे बड़े अवॉर्ड ऑस्कर के लिए नॉमिनेशन मिलता है. इस वर्ष के फिल्म फेस्टिवल में एनपीके की शार्ट फिल्म “बांधा खेत” अपनी झारखंड की संस्कृति को दिखाती नजर आएगी. इस फेस्टिवल में हर साल लगभग 4000 से ऊपर शॉर्ट फिल्में पूरे विश्व से जमा की जाती है जिनमें से लगभग 250 फिल्मों का ही चयन होता है.

इसे भी पढ़ेंः‘ध्यानचंद’ की राह पर बिछा है कोरोना का जाल, घरों में सिमटे हैं गुदड़ी के लाल

मुंडारी और नागपुरी भाषा में है फिल्म

19 मिनट के इस शॉर्ट फिल्म का निर्माण मुंडारी और नागपुरी भाषा में किया गया है. कल से इस फिल्म फेस्टिवल की शुरुआत हो चुकी है जहां पर इस फिल्म को दिखाया जा रहा है. इस फिल्म फेस्टिवल में देश और दुनिया भर के बड़े बड़े फिल्मकारों की फिल्में आयी हुई है. बॉलीवुड के बड़े अभिनेताओ की फिल्में भी है. इससे पहले फिल्म कोविड-19 शॉर्ट फिल्म फेस्टिवल ऑफ़ ओडिशा में चुना गया है. झारखंड की एकमात्र शॉर्ट फिल्म फिल्मी कहानी हमारे आदिवासी – सदान  परिवेश में रहने वाले किसानों के दर्द को बयां करती है. इस फिल्म का निर्माण श्रेया इंटरनेशनल फिल्म प्रोडक्शन ने किया है जिसे यतींद्र के मिश्रा ने प्रोड्यूस किया है.

Sanjeevani

इसे भी पढ़ेंःट्रिपल तलाक देकर पत्नी का Porn Video  डाला, सदमे में महिला ने उठाया खौफनाक कदम

डीएसपीएमयू रांची के नागपुरी विभाग के विद्यार्थी हैं Npk

पुरुषोत्तम कुमार एमपी के डीएसपीएमयू के नागपुरी विभाग के विद्यार्थी हैं. वे अभी एम ए प्रथम वर्ष के छात्र हैं. पढ़ाई के साथ-साथ नागपुरी फिल्मों और नाटकों के निर्माण में उनकी खास रूचि है. अभी तक 9 शॉट नागपुरी शॉर्ट फिल्मों का निर्माण कर चुके हैं एवं जल्द ही उनकी बड़ी फीचर फिल्म “दहलीज”भी आने वाली है. एनपीके की शार्ट फिल्म में पहले भी देश-विदेश के विभिन्न फिल्म फेस्टिवल में दिखाया गया है. NPK को नाटक और फिल्म के क्षेत्र में पुरस्कार भी मिल चुके हैं.

Related Articles

Back to top button