JharkhandRanchi

JharkhandElection : 25 प्रतिशत केन्द्रों की वेब कास्टिंग का लक्ष्य, कम मतदान वाले केंद्रों पर फोकस

Ranchi : चुनाव पूरा करने के लिए कोई शॉर्ट कट नही होता. तय समय और नियम का पालन करते हुए चुनाव संपन्न करें. भारत निर्वाचन आयोग के उप निर्वाचन आयुक्त सुदीप जैन ने ये बातें शुक्रवार को सभी जिलों के उपायुक्त एवं पुलिस अधीक्षकों के साथ बैठक में कही.

Jharkhand Rai

वहीं, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में 25% मतदान केंद्रों की वेबकास्टिंग का लक्ष्य रखा गया है.

जैन ने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव के लिए पूरी तरह से सक्रिय हो जाना है. पहले से ही विभिन्न प्रकार की चुनौतियों, आधारभूत संरचना, सुरक्षा, मतदाता सूची का पुनरीक्षण इत्यादि कार्य को चिन्हित कर उस पर गंभीरतापूर्वक कार्य किया जाये.

उन्होंने कहा कि 18-19 उम्र के मतदाता एवं ऐसे मतदाता जिनका नाम मतदाता सूची में नहीं है, उनका नाम मतदाता सूची में सुनिश्चित करने की कार्रवाई समयबद्ध रूप से की जानी है.

Samford

बैठक में भारतीय निर्वाचन आयोग के सचिव अरविंद आंनद, सभी जिलों के अधिकारी शामिल हुए.

इसे भी पढ़ें : जीरो टॉलरेंस सरकार में चोरी हो गयीं #MNREGA से बनी 4 करोड़ की 40 सड़कें

मतदान करना सुखद अनुभव हो, ऐसे प्रयास करें

सुदीप जैन ने कहा कि चुनाव कार्य में शिथिलता नहीं बरती जाये. प्रत्येक मतदाता को मत देने का अधिकार है. उन्हें मतदान की सुखद अनुभूति हो इसके लिए सभी आवश्यक उपाय किये जायें.

मतदान केंद्रों पर बैठने की व्यवस्था की जाये. वहां कुर्सियां लगायी जा सकती हैं एवं मतदाता को टोकन दिया जा सकता है ताकि उन्हें मतदान के लिए लंबी अवधि तक इंतजार नहीं करना पड़े.

इसमें निर्वाची पदाधिकारी एवं जिला निर्वाचन पदाधिकारी की बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका होती है एवं उत्तरदायित्व भी निभाना पड़ता है. चुनाव कार्य में पारदर्शिता बरतें.

इसे भी पढ़ें : #JharkhandPolice ने HC को सौंपे दागी जनप्रतिनिधियों के ब्योरे में CM, तीन मंत्रियों व सांसद का नाम छिपाया

मतदान केंद्रों और सुरक्षा की दी गयी जानकारी

इस दौरान सभी उपायुक्तों की ओर से मतदान केंद्रों, मतदाता समेत चुनाव की जानकारी दी गयीं. वही एसपी की ओर से सुरक्षा समेत अन्य जानकारी दी गयी.

जैन ने अधिकारियों को उन इलाकों में अभियान चलाने का निर्देश दिया जहां मतदान कम हुए थे. वहीं कॉलेज के विद्यार्थियों को सी विजिल एप डाउनलोड करने के लिए प्रेरित करने का निर्देश दिया.

उन्होंने सुझाव दिया कि अपने जिला के लोगों से अकस्मात दूरभाष पर संपर्क कर उनके क्षेत्र में होने वाली घटनाओं एवं गतिविधियों की जानकारी प्राप्त की जा सकती है.

इससे लोगों को लगेगा कि प्रशासन उनके साथ संपर्क में है और वह चुनाव के दौरान अनियमितताओं के संबंध में प्रशासन को अवगत करा सकेंगे.

उन्होंने राजनीतिक दलों के साथ लगातार बैठक कर चुनाव की जानकारी देने की बात कही.

बैठक में अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कृपानंद झा, अपर पुलिस महानिदेशक सह राज्य पुलिस नोडल पदाधिकारी  मुरारी लाल मीणा, पुलिस महानिरीक्षक सीएपीएफ संजय आनंद लाटकर समेत अन्य अधिकारी मौजूद रहे.

इसे भी पढ़ें : #CM ने केंद्रीय कोयला मंत्री से की शिकायत, नियमों की अनदेखी करती हैं कोल कंपनियां

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: