Jharkhand Vidhansabha Election

JharkhandElection :  विपक्ष एनडीए के बाद खोलेगा अपना पत्ता!

Ranchi :  झारखंड विधानसभा चुनाव की तिथियों की घोषणा के साथ ही राज्य में चुनावी बिगुल बज चुका है. वहीं चुनाव में सीट शेयरिंग को लेकर एनडीए और विपक्षी महागठबंधन के बीच खींचतान जारी है.

Jharkhand Rai

स्थानीय अखबारों की मानें तो विपक्ष के बीच सीट शेयरिंग पर फॉर्मूला लगभग तय हो गया है. लेकिन सूत्रों का कहना है कि सीट शेयरिंग पर बातचीत के बावजूद सहयोगी दल अपना पत्ता तब तक नहीं खोलेंगे, जब तक एनडीए अपने सीट बंटवारे का ऐलान न कर दे.

बता दें कि एनडीए गठबंधन में बीजेपी के अलावा आजसू और लोजपा और विपक्षी महागठबंधन में जेएमएम, कांग्रेस, आरजेडी के अलावा वाम दलों को शामिल किया गया है.

इन दोनों गठबंधनों के अलावा राजनीतिक गलियारों में पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी के नेतृत्व वाली झारखंड विकास मोर्चा एवं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले जनता दल (यूनाइटेड) के बीच गठबंधन की खबर भी तैरने लगी है.

Samford

इसे भी पढ़ें : #JharkhandElection: झारखंड में बजा चुनावी बिगुल, पांच चरणों में चुनाव, 30 नवंबर से वोटिंग, 23 दिसंबर को मतगणना

एनडीए गठबंधन देख विपक्ष बनायेगा समीकरण

कांग्रेस के सूत्रों का कहना है कि सीट शेयरिंग के फॉर्मूले पर विपक्ष अपना पत्ता खोलने से पहले एनडीए गठबंधन को देखेगा. एनडीए गठबंधन के तहत शामिल तीनों दल किस-किस सीट पर अपने प्रत्याशी उतारेंगे, उस पर विपक्ष की नजर  रहेगी.

इससे विपक्षी दलों को प्रत्याशी उतारने में सहुलियत होगी. इसके अलावा जेवीएम और जदयू गठबंधन पर भी नजर रखी जायेगी.

इसे भी पढ़ें : वनवास के बाद जमशेदपुर में #JSCA की AGM आघे घंटे में खत्म, कीनन स्टेडियम पर चर्चा के नाम पर खानापूर्ति

महागठबंधन में जेवीएम के न रहने की चर्चा जोरों पर

तीसरे गठबंधन की खबर का कयास इसलिए भी लगाया जा रहा है कि विपक्षी महागठंबधन में जेवीएम शामिल नहीं हो सकता है. दावा किया जा रहा है कि जेवीएम सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी ने जेएमएम के कार्यकारी अध्य़क्ष हेमंत सोरेन के नेतृत्व में चुनाव लड़ने से साफ मना कर दिया है.

इससे साफ है कि महागठबंधन में जेएमएम के अलावा कांग्रेस, आरजेडी और वाम दल को ही शामिल किया जायेगा.

चर्चा यह भी है कि इन चारों दलों के बीच सीट शेयरिंग पर जो फार्मूला बना है, उसमें जेएमएम को 40 से 43, कांग्रेस को 30 के करीब, आरजेडी 5 से 7 और वाम दल को 3 से 5 सीटें मिल सकती हैं.

इसे भी पढ़ें : बिना लड़े ही गोमिया विधानसभा क्षेत्र में हार चुकी है कांग्रेस, इज्जत बचाने के लिए गठबंधन का ले रही आड़

 

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: