JharkhandRanchi

झारखंड यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ता गांवों में कर रहे हैं अनाज वितरण, बादल पत्रलेख ने भी किया श्रमदान

Ranchi : कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए केंद्र सरकार की ओर से लॉकडाउन की अवधि को बढ़ाकर 3 मई तक कर दिया गया है. ऐसे में रोज कमाने खाने वालों को खाली दिक्कतें आ रही हैं. लेकिन उनकी परेशानियों को दूर करने के लिए लॉकडाउन में झारखंड प्रदेश यूथ कांग्रेस लगातार जरूरतमंद और गरीबों सूखा राशन पहुंचा रहा है.

यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ता सूखे राशन की 500 से अधिक थैलियों को प्रदेश मुख्यालय से कई इलाकों में भेज रहे हैं. इसी कड़ी में सूबे के कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने भी मुख्यालय पहुंचकर कार्यकर्ताओं के इस काम में अपना श्रमदान किया. उन्होंने न केवल स्वंय हाथों से अनाजों की थैलियां उठाकर गाड़ियों में रखा, बल्कि यूथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं के इस काम की सराहना भी की.

झारखंड यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ता गांवों में कर रहे हैं अनाज वितरण, बादल पत्रलेख ने भी किया श्रमदान
यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ता के द्वारा सूखे राशन की 500 पैकेट्स ले जाने के दौरान कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने भी मुख्यालय पहुंचकर कार्यकर्ताओं के इस काम में अपना श्रमदान करते हुए.
Catalyst IAS
ram janam hospital

कृषि मंत्री ने कहा कि लॉकडाउन में राज्य के कई इलाकों में लोगों के समक्ष राशन नहीं होने से समस्या है. युवा कार्यकर्ता हर दिन ऐसे लोगों को खोजकर उन्हें अनाज उपलब्ध करा रहे हैं, जो कि एक नेक और सराहनीय काम है. गठबंधन सरकार का यही प्रयास रहा है कि लॉकडाउन की अवधि में राज्य के किसी भी व्यक्ति के सामने भूखे रहने की नौबत आये.

The Royal’s
Pitambara
Sanjeevani
Pushpanjali

इसे भी पढ़ें – #CoronaCrisis: लॉकडाउन की पाबंदियों के बीच कराह रही जिंदगियां, पानी में चूड़ा फूला कर खाने को मजबूर गर्भवती

जरूरतमंदों को राहत देने के लिए यूथ कांग्रेस ने उठाया बीड़ा

कृषि मंत्री के श्रमदान के दौरान प्रदेश अध्यक्ष कुमार गौरव भी उपस्थित थे. उन्होंने कहा कि लॉकडाउन में जरूरतमंदों को राहत देने के लिए यूथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने यह बीड़ा उठाया है. यह कार्यक्रम प्रदेश के हर जिले में संपन्न किया जा रहा है.

प्रदेश मुख्यालय से हर दिन 500 से अधिक सूखे अनाज की थैलियां लोगों तक पहुंचायी जा रही हैं. इस दौरान यूथ बिग्रेड के कार्यकर्ता सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की हरसंभव कोशिश कर रहे हैं. अनाज की थैली में जरूरतमंदों को 5 किग्रा चावल, 1 किग्रा दाल, 1 किग्रा प्याज और 2 किग्रा आलू दिया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें – क्या मोदी सरकार ने कोरोना संकट को समझने में देर की ! पढ़िये वो तथ्य जिसकी चर्चा मेन स्ट्रीम मीडिया से गायब है

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button