न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

तेजस्विनी प्रोजेक्ट को सुदृढ़ करेगी झारखंड महिला विकास सोसाइटी

प्रोजेक्ट के तहत स्मार्ट फोन और बायोमेट्रिक सिस्टम लगाने की तैयारी

225

Ranchi: झारखंड सरकार की महिला विकास सोसाइटी की तरफ से तेजस्विनी प्रोजेक्ट को सुदृढ़ करने का निर्णय लिया गया है. खूंटी, चाईबासा, पूर्वी सिंहभूम, सरायकेला-खरसांवा, रामगढ़, चतरा, कोडरमा, बोकारो, धनबाद, देवघर, दुमका, गोड्डा, पाकुड़, जामताड़ा, पलामू, लातेहार, लोहरदगा, सिमडेगा समेत 17 जिलों में चल रहे तेजस्विनी प्रोजेक्ट में अब परियोजना कर्मियों की कार्यक्षमता बढ़ाने और केंद्र सरकार की योजना को सही तरीके से क्रियान्वित करने का निर्णय लिया है. विश्व बैंक संपोषित 630 करोड़ की परियोजना में 1767 केंद्र स्थापित किये गये हैं.

इसे भी पढ़ें – मुस्लिम समाजः आतंकवाद से सबसे ज्यादा नुकसान मुस्लिम समाज को ही हुआ है

21 लाख किशोरियों को लाभ देने की कोशिश

यहां पर आनेवाली 21 लाख से अधिक किशोरियों-बालिकाओं को आर्थिक रूप से समृद्ध कर, उन्हें महिला सशक्तिकरण का लाभ देने के प्रबंध किये जा रहे हैं. इसके अंतगर्त बच्चियों के केंद्र तक आने का रिकार्ड रखने के लिए बायोमेट्रिक सिस्टम स्थापित किया जा रहा है. साथ ही साथ केंद्र के प्रमुख के लिए स्मार्ट फोन भी दिये जा रहे हैं. तेजस्विनी प्रोजेक्ट के तहत सॉफ्ट स्किल का प्रशिक्षण, सुरक्षा के अधिकार से बालिकाओं को प्रदत्त करने, उन्हें स्वस्थ और सही पोषाहार देने और वित्तीय जागरुकता का पाठ भी पढ़ाया जा रहा है. परियोजना में 14 वर्ष से 24 आयु वर्ष की बालिकाओं का क्षमता संवर्द्धन किया जा रहा है. इसमें अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति संवर्ग की बच्चियां शामिल हैं. सरकार की तरफ से 6.80 लाख किशोरी बालिकाओं को प्रशिक्षित करने का लक्ष्य भी रखा गया है.

इसे भी पढ़ें – पलामू: भाजपा नेता कमलेश सिंह गिरफ्तार, भेजे गये जेल

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: