न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

स्वदेश दर्शन योजना के तहत झारखंड को मिलेगा 53 करोड़

बहुरेंगे बेतला और नेतरहाट के दिन

606

Latehar/ Palamu : सोमवार को लोकसभा में चतरा सांसद सुनील कुमार सिंह ने तारांकित प्रश्न के माध्यम से झारखण्ड में प्रर्यटन को बढ़ावा देने का विषय उठाया. जिसका जवाब केन्द्रीय प्रर्यटन मंत्री केजे अल्फोंस ने दिया. चतरा सांसद सुनील कुमार सिंह के प्रश्न का जवाब देते हुये केन्द्रीय प्रर्यटन मंत्री ने झारखण्ड राज्य को बड़ी सौगात देते हुये स्वदेश दर्शन योजना के तहत झारखण्ड के प्रस्ताव को मंजूरी देने की घोषणा की. झारखण्ड में स्वदेश दर्शन योजना के तहत 52.70 करोड़ की राशि स्वीकृत की गयी है. इससे लातेहार जिले में नेतरहाट पहाड़ी प्रर्यटन, बेतला राष्ट्रीय उद्यान और पलामू व्याघ्र परियोजना, जहां कई जंगली जानवर हैं. दलमा, चांडिल, गेतलसूद आदि को विकसित किया जायेगा. इस योजना के तहत इन इलाको में हर आयु वर्ग के प्रर्यटकों के लिए विशेष सुविधा बहाल होगी.

mi banner add

इसे भी पढ़ेंः केंद्रीय मंत्री गडकरी को नहीं दिखती नौकरियां, जबकि देशभर में 24 लाख सरकारी पद हैं खाली

इटखोरी महोत्‍सव के लिए 2017-18 में 25 लाख दिये गये

प्रर्यटकों काे पिकनिक की हर सुविधा मुहैया कराई जाएगी. बच्चों के मनोरंजन और खेल के साथ-साथ युवाओं के लिए वाटर स्पोर्ट्स, पानी के झूले, रेस्तरां में फास्ट फूड से लेकर देश के सभी राज्यों के व्यंजन उपलब्ध होंगे. आराम के लिए रिसॉट भी बनाए जायेंगे. स्थानीय लोगों के सहयोग से खेल मनोरंजन के इंतजाम किए जाएंगे. मंत्री ने यह भी बताया कि झारखण्ड राज्य में इटखोरी महोत्सव को केन्द्रीय वित्तीय सहायता के रूप में वर्ष 2017-18 में 25 लाख रुपये दिये गये हैं. सांसद सुनील कुमार सिंह ने भारत सरकार एवं प्रर्यटन मंत्रालय को वित्तीय सहायता के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद दिया.

इसे भी पढ़ेंः सुकमाः सुरक्षाबलों को मिली बड़ी सफलता, मुठभेड़ में 14 नक्सली ढेर

प्राचीन एवं धार्मिक महत्व के मंदिर होंगे प्रसाद योजना में  शामिल

सांसद ने यह भी कहा कि बाबा बैद्यनाथ धाम को ‘प्रसाद’ योजना में शामिल कर लिया गया है, लेकिन इसको अभी तक प्रसाद योजना की राशि आवंटित नहीं हुई हैं. उन्होंने शीघ्र राशि आवंटित करने की मांग की है. इसके अलावा इटखोरी के ‘मां भद्रकाली’ मंदिर एवं हण्टरगंज के ’कौलेश्वरी’ मंदिर, चतरा का भवानी मठ, नगर भवानी प्राचीन मंदिर, चदंवा नगर मंदिर (लातेहार), श्रीकेदाल मंदिर व झारखंडी मंदिर आदि प्राचीन एवं धार्मिक महत्व के मंदिरों के विकास के लिए सरकार को इन्हें भी प्रसाद योजना में शामिल करना चाहिए. उन्होंने इसके अलावा चतरा संसदीय क्षेत्र के भदुली, कोल्हुआ पहाडी, कुण्ड गुफा, तमासिन, द्वारी झरना, लातेहार का लोध जल प्रपात, राजा मेदिनी राय द्वारा निर्मित पलामू एवं नावागढ़ किला आदि काे विकास करने की आवश्यकता पर बल दिया है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: