Education & CareerJharkhandLead NewsRanchi

Jharkhand : साढ़े सात लाख स्टूडेंट्स कर रहे इंतजार, 10-12वीं परीक्षा का क्या होगा सरकार..

Ranchi : सीबीएसइ, आईसीएसइ सहित देश के तमाम राज्य के स्कूल बोर्ड ने 10 वीं और 12 वीं बोर्ड कि परीक्षा रद्द कर दी है. रिजल्ट कैसे जारी किया जाये इसपर मंथन भी किया जा रहा है.

सीबीएसइ, आईसीएसइ बोर्ड की ओर से रिजल्ट के लिए मार्किंग स्कीम जारी करने के साथ प्रक्रिया भी शुरू कर दी है. लेकिन झारखंड में जैक बोर्ड की ओर से अब तक मैट्रिक-इंटर की परीक्षा को लेकर अब तक कोई निर्णय नहीं लिया जा सका है.

advt

ऐसे अब राज्य के स्टूडेंट्स इस आस में हैं कि बोर्ड परीक्षा का क्या होगा. राज्य में मैट्रिक-इंटर के लगभग साढ़े साथ लाख स्टूडेंट्स हैं जो परीक्षाओं के निर्णय के इंतजार में हैं.

राज्य में मैट्रिक और इंटर की परीक्षा पहले 4 मई 2021 से शुरू होने वाली थी. लेकिन, कोरोना संक्रमण के कारण परीक्षाएं स्थगित कर दी गयीं.

इसे भी पढ़ेंःRanchi University : वोकेशनल कोर्सेस का हाल बेहाल, 24 कोर्सेस में आधे से अधिक को नहीं मिले पूरे स्टूडेंट्स

सीबीएसइ पैटर्न का हो चुका अध्ययन

बताते चलें कि स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग एवं झारखंड एकेडमिक काउंसिल ने परीक्षा नहीं होने की स्थिति में रिजल्ट तैयार करने के विकल्प की तलाश शुरू कर दी है. सीबीएसइ की ओर से जारी किये गये मार्किंग पैटर्न का अध्ययन भी विभाग ने कर लिया है.

हालांकि, राज्य में सीबीएसइ के मूल्यांकन पद्धति के आधार पर मैट्रिक का रिजल्ट तैयार नहीं किया जा सकता है क्योंकि झाखंड में पिछले वर्ष स्कूल बंद थे.

इसे भी पढ़ेंःCorona Update: झारखंड में पाबंदियों में छूट के साथ ही मौत व मरीजों की संख्या में गिरावट

रोक दी गयी थी प्रैक्टिकल टेस्ट

मैट्रिक- इंटर की प्रैक्टिकल टेस्ट शुरू हुई थी, लेकिन कोरोना संक्रमण के बढ़ने के कारण परीक्षा बीच में ही रोक दी गयी. जिन परीक्षार्थियों की प्रैक्टिकल टेस्ट नहीं हुई, उस संबंध में कोई दिशा-निर्देश जारी नहीं किया गया है.

झारखंड में मैट्रिक और इंटर की परीक्षा में शामिल होने के लिए करीब 7.5 लाख परीक्षार्थियों ने आवेदन जमा किया है. इसमें मैट्रिक में 4.32 लाख और इंटर में 3.31 लाख परीक्षार्थी हैं.

विभाग में चल रहा मंथन

बोर्ड परीक्षा को लेकर स्कूली साक्षरता विभाग में मंथन चल रहा है. उम्मीद है देर शाम परीक्षा को लेकर निर्णय आ जाये. वहीं जैक अध्यक्ष अरविंद सिंह ने कहा कि सरकार के आदेश का इंतजार कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ेंः2016 रास चुनाव हॉर्स ट्रेडिंग केस में पीसी एक्ट जोड़ने पर अब विजिलेंस कोर्ट में होगी सुनवाई

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: