न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

प्रधानमंत्री इंप्लायमेंट जनरेशन प्रोग्राम के तहत चार सालों में झारखंड में घट गये 9328 रोजगार

949

Rahul Guru
Ranchi: रोजगार के जिन आंकड़ों को दिखाकर केंद्र व राज्य सरकार रोजगार सृजन की बात कहती है, वही आंकड़े सरकार को झूठलाते हैं. प्रधानमंत्री इंप्लायमेंट जनरेशन प्रोग्राम के विभागीय आंकड़े बताते हैं कि झारखंड में बीते चार सालों में 9328 रोजगार घट गये हैं.

इस प्रोग्राम के तहत वित्तीय वर्ष 2019-20 में मात्र 1072 लोगों को ही रोजगार मिल पाया है. जबकि देशभर के आंकड़े बताते हैं कि केंद्र सरकार की इस योजना के तहत वर्तमान वित्तीय वर्ष में देशभर में 211840 लोगों को रोजगार मिला.

Sport House

झारखंड में रोजगार में 10 गुणा आयी गिरावट

लोकसभा में प्रप्रधानमंत्री इंप्लायमेंट जनरेशन प्रोग्राम के प्रस्तुत आंकड़े बताते हैं कि केवल झारखंड में चार साल में रोजगार में 10 गुणा की गिरावट आयी है. वित्तीय वर्ष 2016-17 में 10400 लोगों को इस प्रोग्राम के तहत रोजगार मिला था.

रोजगार के इस रफ्तार में भयानक गिरावट आयी है. रोजगार के आंकड़ों की रफ्तार ऐसी है कि 2016-17 में 10400 लोगों को रोजगार मिला. 2017-18 में 8888 लोगों को रोजगार मिला, 2018-19 में 3120 लोगों को रोजगार मिला जो इस वित्तीय वर्ष में घट कर मात्र 1072 रह गया है.

इसे भी पढ़ें- नागरिकता संशोधन बिल के विरोध में असम का तीखा होता स्वर देशव्यापी हो सकता है

Mayfair 2-1-2020

देश की राजधानी दिल्ली की हालत भी खराब

आंकड़ों के मुताबिक इस प्रोग्राम के तहत रोजगार देने में देश की राजधानी दिल्ली की हालत भी काफी खराब है. बीते तीन सालों में यहां रोजगार देने में सबसे ज्यादा कमी आयी है.

वित्तीय वर्ष में 368 लोगों को ही रोजगार मिला. इस सूची में पांच राज्य ऐसे हैं जहां 500 लोगों को भी इस प्रोग्राम के तहत रोजगार नहीं मिला. इसमें जम्मू-कश्मीर में 216, दिल्ली में 368, गुजरात में 264, तेलंगाना में 256 व केरल में मात्र 72 लोगों को रोजगार मिला.

इसे भी पढ़ें- #CitizenShipAmendmentBill : भारतीय सेना ने लोगों को ट्वीट कर अलर्ट किया,  फेक न्यूज और दुष्प्रचार से बचें

2016-17 से 2019-20 में आधा हुआ रोजगार

प्रधानमंत्री इंप्लायमेंट जनरेशन प्रोग्राम के तहत रोजगार देने के आंकड़े बताते हैं कि वित्तीय वर्ष 2016-17 से वित्तीय वर्ष 2019-20 में देशभर में रोजगार आधा हो गया है.

जहां वित्तीय वर्ष 2016-17 में 407840 लोगों को रोजगार मिला था, वहीं वर्तमान वित्तीय वर्ष में यह आंकड़ा 211840 को ही छू पाया है. 2017-18 में 387182 और 2018-19 में 587416 लोगों को रोजगार मिल पाया है.

ऐसा है देशभर के राज्यों में रोजगार के आंकड़े

हिमाचल प्रदेश 8200, पंजाब 896, चंडीगढ़ 7216, उत्तराखंड 6224, हरियाणा 8432, राजस्थान 312, उत्तर प्रदेश 19032, बिहार 6752, सिक्किम 5456, अरूणाचल प्रदेश 17488, नागालैंड 3856, मणीपुर 13800, मिजोरम 8064, त्रिपुरा 00, मेघालय 5552, असम 16992, पश्चिम बंगाल 2680, झारखंड 1072,ओडिशा 2144,छत्तीसगढ़ 1992, मध्य प्रदेश 6688, महाराष्ट्र 6488, आंध्र प्रदेश 8632, कर्नाटक 17192, गोवा 7776, तमिलनाडू 12656 है रोजगार के आंकड़े.

इसे भी पढ़ें- आखिरी चरण में संथाल तय करेगा झारखंड की अगली सरकार, फिलहाल आधी सीटों पर गठबंधन का परचम

SP Jamshedpur 24/01/2020-30/01/2020

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like