JharkhandRanchi

रांची: होटवार जेल में बंद दो पूर्व मंत्रियों के बीच विवाद, एक-दूसरे पर दर्ज कराया मामला

विज्ञापन

Ranchi: रांची के बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा में बंद दो पूर्व मंत्रियों के बीच विवाद का मामला सामने आया है. जिनके बीच विवाद का मामला सामने आया है वो एनोस एक्का और योगेंद्र साव हैं. दोनों के बीच विवाद इतनी बढ़ गयी थी कि वो एक दूसरे को अपशब्द कहने लगे साथ ही आपस में मारपीट तक की नौबत आ गयी.

इस मामले को लेकर दोनों पूर्व मंत्रियों ने जेल प्रशासन के माध्यम से रांची के खेलगांव थाने में प्राथमिकी के लिए आवेदन भेजा था. दोनों के आवेदन पर गुरुवार देर रात प्राथमिकी दर्ज कर ली गयी है.

गौरतलब है कि एनोस एक्का ने योगेंद्र साव के खिलाफ एसटीएससी का मामला दर्ज करवाया है. वही योगेंद्र साव ने एनोस एक्का पर रंगदारी मांगने का मामला दर्ज करवाया है.

advt

इसे भी पढ़ें- #Siwan बना बिहार का ‘वुहान’! एक ही परिवार के 23 लोग कोरोना पॉजिटिव, संक्रमितों की संख्या हुई 60

बंदी आवेदन मिलने के बाद हुआ मामले का खुलासा

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार योगेंद्र साव और एनोस एक्का के बीच कुछ दिन पहले यह विवाद हुई थी. जिसके बाद दोनों ने एक दूसरे के ऊपर मामला दर्ज करने के लिए बंदी आवेदन दिया था. गुरुवार को पुलिस को इसकी जानकारी हुई जिसके बाद खेल गांव थाना में दोनों पूर्व मंत्रियों ने एक दूसरे के खिलाफ मामला दर्ज करवाया.

इसे भी पढ़ें- #Corona का कहर: मुंबई की धारावी बस्ती में 5 नये केस, देश में 6,400 से ज्यादा संक्रमित, 199 लोगों की गयी जान

इससे पहले भी जेल में हो चुके हैं विवाद

बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार में दो नेताओं के बीच विवाद का यह पहला मामला नहीं है. इससे पहले भी इस तरह की कई मामले सामने आ चुके हैं. 31 अक्तूबर 2011 में मधु कोड़ा ने जेल में मिल रहे खराब खाने को लेकर विरोध प्रदर्शन किया था. इस दौरान जेल में मौजूद अन्य बंदियों के बीच झड़प एवं मारपीट भी हुई थी. इस घटना में मधु कोड़ा का हाथ भी टूट गया था. मधु कोड़ा ने इस मामले में जेल प्रशासन के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी थी.

adv

दूसरी घटना 25 दिसंबर 2018 को सामने आयी थी जब बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा में दो पूर्व मंत्री बंधु तिर्की और झारखंड पार्टी के नेता एनोस एक्का के बीच विवाद हुआ था.  हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पायी थी.

इसे भी पढ़ें- #LockDown के दौरान IPS ने वधावन परिवार के सदस्यों को दी थी जमशेदपुर नंबर के वाहन से यात्रा की अनुमति, भेजे गये छुट्टी पर

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button