न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

नयी पेंशन योजना की वापसी की मांग को लेकर झारखंड पोस्टल पेंशनर्स एसोसिएशन ने शुरू किया पोस्टकार्ड अभियान

64

Ranchi : झारखंड पोस्टल पेंशनर्स एसोसिएशन की बैठक शनिवार को कपिल देव रॉय की अध्यक्षता में हुई. इसमें एसोसिएशन की दस सूत्री मांगों को लेकर पोस्टकार्ड अभियान शुरू करने की सहमति बनी. इसके तहत पहले फेज में पोस्टकार्ड अभियान की रांची से शुरुआत होगी, जो 31 दिसंबर तक चलेगा. वहीं, 11 से 20 दिसंबर तक चेन्नई, कोलकाता, हैदराबाद, दिल्ली, नागपुर, मुंबई, चंडीगढ़, जयपुर, भोपाल, गुवाहाटी, लखनऊ और त्रिवेंद्रम में मांगों को लेकर धरना का आयोजन किया किया जायेगा. 15 मार्च 2019 को दिल्ली में एक दिवसीय भूख हड़ताल का आयोजन करने की रणनीति तय की गयी, जिसमें झारखंड से एक दर्जन पेंशनर्स शामिल होंगे. बैठक में निर्णय लिया गया कि रांची से पोस्टल एवं आरएमएस पेंशनर्स एसोसिएशन के चार प्रतिनिधि इसमें भाग लेंगे. वहीं संगठन द्वारा 10 दिसंबर से सदस्यता एवं पोस्टकार्ड अभियान के तहत डोर टू डोर अभियान की शुरुआत करने की बात स्टेट सचिव ने कही.

संगठन की गतिविधियों पर हुई चर्चा

बैठक में संगठन द्वारा की जा रही गतिविधियों की जानकारी दी गयी. कहा गया कि पांच दिसंबर को एक प्रतिनिधिमंडल ने पेंशन रिवीजन को लेकर संयुक्त डाक निदेशक से मिलकर अपनी मांगों को रखा था, जिसमें हजारीबाग, धनबाद, रांची एवं जमशेदपुर के प्रतिनिधि शामिल हुए थे. वहीं, 19 नवंबर को एसोसिएशन का प्रतिनिधिमंडल सात सूत्री मांगों को लेकर चीफ पीएमजी, झारखंड से मिला था, जिसमें पेंशन का बकाया भुगतान, अंतिम कार्यदिवस पर पेंशन भुगतान, पेंशनर्स के बैठने की मुख्य डाकघरों में समुचित व्यवस्था, पेंशनर्स का जीवन प्रमाणपत्र निर्गत करने सहित अन्य मांगें शामिल थीं. चीफ पीएमजी ने त्वरित कार्रवाई कर जीवन प्रमाणपत्र मशीन ठीक करवायी और अन्य मुद्दों पर अर्द्ध सरकारी पत्र जारी कर अधीक्षकों को निर्देशित किया.

पोस्टल पेंशनर्स एसोसिएशन की ये हैं मुख्य मांगें

  1. नयी पेंशन योजना वापस हो
  2. फिक्स्ड मेडिकल भत्ता 2000 रुपये हो
  3. कम्यूटेशन ऑफ पेंशन की अवधि 15 साल से 10 साल हो
  4. न्यूनतम पेंशन की राशि न्यूनतम मजदूरी का 60% हो, यानी न्यूनतम पेंशन जो कम से कम 10800 हो.
  5. सातवें वेतन आयोग की सिफारिश के आलोक में पेंशन के ऑप्शन नंबर 1 की मंजूरी एवं सुप्रीम कोर्ट के फैसले के आलोक में एमएसीपी (प्रोन्नति) 1 जनवरी 2006 से लागू की जाये.
  6. बीएसएनएल एवं ऑटोनोमस बॉडी की पेंशन रिवाइज की जाये.

बैठक में ये थे मौजूद

बैठक में रांची के अलावा गुमला, सिमडेगा, ओरमांझी के पेंशनर्स शामिल हुए. बैठक में आरएन पांडेय, रमेश सिंह, त्रिवेणी ठाकुर, एसके कंठ, बॉयस टोप्पो, पीएस लकड़ा, जेठू बड़ाईक, हसीना तिग्गा, बी बारा, आर बाखला, किशुन बड़ाईक, एसके ठाकुर, एनके वर्मा, त्रिलोकी साहू, महाबीर ठाकुर, राजेंद्र महतो, रफीक अहमद, सत्यनारायण, माधो राम, डी गोस्वामी, आरआर दुबे, शिवपूजन सिंह यादव, चंदेश्वर राम, अनिल कच्छप, सुभाष घोष ने अपने विचार रखे.

इसे भी पढ़ें- दीपिका-अतनु के रिश्ते से खुश नहीं है गोल्डेन गर्ल का ननिहाल, अंतरजातीय विवाह को लेकर है नाराजगी

इसे भी पढ़ें- लेवी से पैसे कमाने के लालच में दूसरे राज्यों के बड़े नक्सली कर रहे हैं झारखंड का रुख

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: