Education & Career

#Jharkhand : पारा शिक्षकों को अप्रैल का नहीं मिला मानदेय, कैसे मनायेंगे ईद

विज्ञापन

Ranchi: राज्य में कार्यरत 65000 पारा शिक्षकों को अप्रैल माह का मानदेय नहीं दिया गया है. ऐसे में राज्य के पारा शिक्षक बिना मानदेय के ही ईद मनायेंगे. पारा शिक्षकों को छोड़ कर सरकार के अन्य विभागों के कर्मचारियों को राज्य सरकार के द्वारा मई माह का अग्रिम भुगतान करने के लिए कहा गया है. ऐसे में राज्य के पारा शिक्षक काफी दुखी हैं.

पारा शिक्षक संघ का कहना है कि एक तो अल्प मानदेय प्राप्त होता है और कोई भी त्योहार के समय भुगतान नहीं होने से काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है. गौरतलब है कि लगभग 4000 ऐसे पारा शिक्षक हैं जिनका मानदेय लगभग 13 महीने से बाकी है. वहीं 2300 ऐसे पारा शिक्षक हैं जिनका मानदेय लगभग 3 माह से बाकी है.

इसे भी पढ़ें – #Corona: 22 मई को हजारीबाग के 7 लोगों समेत कुल 15 नये कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले, झारखंड में संक्रमण के केस हुए 323

कोरोना महामारी के समय भुगतान नहीं होने से स्थिति खराब हो गयी है

शेष बचे पारा शिक्षकों को अप्रैल माह का मानदेय नहीं मिला है. कोविड 19 जैसी महामारी के समय में मानदेय भुगतान नहीं होने से राज्य के पारा शिक्षकों में भुखमरी की स्थिति पैदा हो गयी है. संघ ने मुख्यमंत्री, शिक्षा मंत्री और परियोजना निदेशक से आग्रह किया है कि राज्य में कार्यरत पारा शिक्षक भी उसी प्रकार काम करते हैं जिस प्रकार अन्य सरकारी कर्मचारी.

संघ प्रमुख संजय दुबे का कहना है कि क्वारंटाइन सेंटर, अस्पताल, गांव पंचायत जहां भी हम लोगों को ड्यूटी दी गयी है हम लोग बखूबी निभा रहे हैं, ऐसे में मानदेय प्राप्त न होने से घर में आर्थिक स्थिति संकट उत्पन्न हो गयी है. अल्प मानदेयवाले पारा शिक्षकों को मानदेय भुगतान करने की सरकार को पहल करनी चाहिए. साथ ही साथ स्थायीकरण और वेतनमान की प्रक्रिया जो अंतिम चरण में थी उसे भी जल्द लागू करना चाहिए.

इसे भी पढ़ें – #Jharkhand का एक भी जिला रेड जोन में नहीं, 106 कंटेनमेंट जोन चिन्हित

Telegram
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close